अनोखे मानसिक विकार – कहीं आप भी इनका शिकार तो नहीं

कृपया अपने मित्रों को भी Share करें

वर्तमान समय में जीवन शैली में खासा बदलाव देखने को मिल रहा है लोग किसी भी चीज से ज्यादा प्राथमिकता अपने Virtual World को देना पसंद कर रहे हैं। बढ़ता हुआ तनाव, चुनौतीपूर्ण करियर, विफलतायें किसी ना किसी रूप में हमारी मानसिकता पर बुरा असर डाल रही हैं। यह बुरा असर मानसिक विकारों का रूप लेता जा रहा है, तो आज मैं आपको बताना चाहूँगी कुछ ऐसे अनोखे मानसिक विकार जो वर्तमान दौर में बढ़ते जा रहे हैं।



Anokhe-Mansik-Vikar-Mental-Disorders मानसिक विकार क्या होते हैं



नोमोफोबिया Nomophobia :

नोमोफोबिया दो शब्दों के मेल से बना है – नो और मोबाइल। Nomophobia से ग्रसित मनुष्य अपने मोबाइल फोन से थोड़ी सी भी दूरी बर्दाश्त नहीं कर पाता। उसे अपने Mobile Phone से दूर होने में एक अजीब सा डर और तनाव महसूस करता है। नोमोफोबिया वर्तमान समय में एक व्यापक रूप लेता जा रहा है कहा जाता है कि नोमोफोबिया के पीछे मुख्य कारण सोशल मीडिया का नशा है।

डिसाइडोफोबिया Decidophobia :

कहा जाता है कि हमारी जिंदगी में लिए गए निर्णय हमारे लिए सब कुछ होते हैं जितना बेहतर हम निर्णय लेते हैं उतना बेहतर ही हमारा भविष्य होता है। लेकिन क्या हो अगर कोई मनुष्य निर्णय लेने से ही डरता हो ?

जी हाँ,
अनोखे Mental Disorders की सूची में अगला नाम डिसाइडोफोबिया। Decidophobia दो शब्दों के मेल से बना है डिसाइड और फोबिया डिसाइड निर्णय का अंग्रेजी शब्द है Decidophobia से ग्रसित मनुष्य अपनी जिंदगी के महत्वपूर्ण फ़ैसलों को लेने से डरता है।



फिलोफोबिया Philophobia :

कहते हैं कि प्रेम जिंदगी का सबसे खूबसूरत हिस्सा होता है, परिस्थिति कैसी भी हो किसी का साथ सब कुछ आसान बना देता है। लेकिन आपको यह बात जानकर आश्चर्य होगा कि इस दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो किसी भी प्रकार के रिश्ते में ढलने या अपनाने से डरते हैं।

जी हाँ,
ऐसे लोगों को फिलोफोबिया का शिकार हुए देखा जाता है। Philophobia एक ऐसा Mental Disorder है जो आपकी मानसिकता को ऐसा बना देता है, कि आपको यूँ लगने लगता है कि – यदि आप किसी भी रिश्ते में आयें तो आपके जीवन की शांति भंग हो जाएगी।

क्रोमोफोबिया Chromophobia :

क्रोमोफोबिया भी दो शब्दों से बना है। क्रोम रंग का अंग्रेजी शब्द है इस मानसिक विकार के चलते लोगों को किसी खास रंग या फिर यूं कहें कि कुछ खास रंगों से डर लगता है। इस मानसिक विकार से ग्रसित लोग रंगों से दूरी बनाना बेहतर समझते हैं। अक्सर देखा गया है कि यह Mansik Vikar लोगों के जीवन की कोई बुरी याद का सिला होता है।

क्रोनोफोबिया Chronophobia :

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि एक मानसिक विकार ऐसा भी है जहां पर मनुष्य को समय से डर लगता है।

जी हाँ,
Chronophobia एक ऐसा मानसिक विकार है जिसमें मनुष्य बीते समय से डरता है। इंसानों के Mental Disorder के चलते मनुष्य को गुजरते हुए वक्त से डर लगता है उसकी मानसिकता चाहती है कि वक्त जहाँ है वही थम जाए। क्रोनोफोबिया मानसिक विकार से पीड़ित लोग अपनी जिंदगी मैं आने वाले कल की चिंता में अपने वर्तमान को भी बर्बाद कर दिया करते हैं।

लेखिका:
वैदेही शर्मा

कृपया नीचे अपना Comment जरूर दें :

कृपया अपने मित्रों को भी Share करें