माँ पर एक हिंदी कविता

कृपया अपने मित्रों को भी Share करें

माँ का होना हर बच्चे के लिए बेहद जरूरी है क्योंकि बच्चे सबसे ज्यादा अपनी माँ के ही करीब होते हैं। नीचे लिखित पंक्तियाँ माँ की मत्ता और उसका अपने बच्चे के प्रति प्रेम व स्नेह को दर्शातीं हैं। प्रस्तुत है हिंदी कविता “माँ” जिसकी लेखिका हैं रीना कुमारी।



माँ हिंदी कविता O Meri Maa ओ मेरी माँ Kavita

हम बेटियाँ ओ मेरी माँ
तेरी ही तो है छाया
हाथ पकड़कर हमको चलना
तुमने ही तो सिखलाया

हम को रोते देख के माँ
तेरा मन होता है विचलित
हमारी मुस्कुराहट देखकर माँ
तेरे चेहरे पर आती है हँसी

हमको बीमार देखकर माँ
तू रात रात भर जागती थी
ईश्वर से हाथ जोड़ कर
मेरी सलामती की दुआ करती थी

तुम्हारी छवि बनकर माँ
हम तुम्हारी अनुसरण करेंगे
बड़ी होकर चाहे जहां रहें
तुमको सदा नमन करेंगे

रीना कुमारी
तुपुदाना, राँची झारखंड

कृपया नीचे अपना Comment जरूर दें :

कृपया अपने मित्रों को भी Share करें