किसी भी व्यक्ति के जीवन में शिक्षक का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान होता है। औपचारिक शिक्षा के साथ-साथ व्यवहारिक जीवन में भी व्यक्ति को कहीं न कहीं सीखने की आवश्यकता होती है। विद्यालय में हम जो शिक्षा प्राप्त करते हैं, वो हमारी औपचारिक शिक्षा होती है। परंतु, व्यक्तिगत जीवन में भी अनेक अवसरों पर अपने