Author Archive

हरित वातावरण और सरकारी व्यय

वातावरण को लेकर सभी देश , सरकार व समाज का हर वर्ग चिंतित है । परंतु उसके लिए त्याग की भावना शून्य है। हर सरकार भारी भरकम बजट बनाती है। हर शहर में हॉर्टिकल्चर विभाग होते है। हजारों स्टाफ करोड़ों अरबों का बजट पर हम वहीं खड़े हैं, कोई विशेष उत्थान नहीं हुआ। इसके

संजू – बॉयोपिक, हिंदी सिनेमा

इस साल की सबसे चर्चित फिल्मो में शामिल संजू रिलीज़ हो ही गयी। चर्चा की कई वजह थी, मसलन रणबीर कपूर के करियर के लिए सबसे जरुरी फिल्म। राजकुमार हिरानी का डायरेक्टर होना और संजय दत्त पर आधारित फिल्म होना। जो लेवल बॉलीवुड की फिल्मों का है उस हिसाब से संजू अच्छी फिल्म है।

बाहुबली ने करण जौहर को दिखया बल

करण जौहर को इंटर्न एक्टर चाहिए। दरसअल ये सिनेमा में सिर्फ अपना हित देखते हैं और बातें होती हैं कुछ नया करना आदि की। बाहुबली स्टार प्रभास की बॉलीवुड में एंट्री को लेकर चर्चा जोरों पर है। बाहुबली के दोनों पार्ट की शानदार सफलता से प्रभावित होकर करण जौहर, प्रभास को लॉन्च करने की

ऑनलाइन से ऑफलाइन होता समाज

आज कल आप इंटरनेट, फेसबुक, वाटसऐप्प या ट्विटर आदि का जरुरत से ज्यादा उपयोग तो नहीं करने लग गए ? क्या आपको भी हमेशा स्टेटस चेक करने की या ऑनलाइन रहने की बीमारी हो गयी है ? यह समस्या केवल युवाओं में नही बल्कि बच्चों, बुजुर्गो, गृहणियों सबको अपनी चपेट में ले रही है।

बीजेपी का चुनावी खेल

बीजेपी की राजनीति क्रिकेट खेल की तरह हो गयी है। जिस सपने या वादे के साथ ये आये थे, पहले इन्होंने विपक्ष को ऐसे कोसा जैसे हम मैच देखते हुए कहते हैं क्या घटिया खेल रहे है ये; हम होते तो छक्के मारते। सामने वाली टीम को बुरी तरह हराते, इनको बल्लेबाजी नहीं आती,

आखिर क्यों जानलेवा है ये मछली ‘ब्लू व्हेल’ ?

रूस के एक स्टूडेंट द्वारा 4 साल पहले बनाया गया गेम दुनिया भर में खलबली मचा रहा है या यूँ कहें कि खौफ का पर्याय बन चुका है । वर्चुअल दुनिया में “ब्लू व्हेल गेम” या “ब्लू व्हेल चैलेंज” रूस से शुरू होकर ब्राजील, चीन, इटली, अर्जेंटीना आदि होते हुए यूरोपीय देशों में पहुंचा,

गोरखपुर कांड – हादसा या हत्या !

कल तक जिन बच्चों के गोदी में आने से घर पर खुशिया मनाई जा रही थीं आज उन्हीं के गोदी में आने से गम का माहौल है; फर्क सिर्फ इतना है कल वे बच्चे पैदा हुए थे आज उनका शव है उसी गोदी में। उन मासूम बच्चों की मृत्यु का कारण BRD Medical College

सचिन बनेगा क्या ? खेलोगे कूदोगे होगे ख़राब पढ़ोगे लिखोगे बनोगे नवाब

सचिन बनेगा क्या ? “खेलोगे कूदोगे होगे ख़राब पढ़ोगे लिखोगे बनोगे नवाब” ये कहावत भारत जैसे विशाल देश में खासी प्रचलित है । क्योंकि भारत एक कृषि प्रधान देश रहा है और जब भी किसी किसान का बच्चा खेलने के बारे में सोचता भी था तो उसे इसी कहावत के आधार पर खेलने से

जब हैरी मेट सेजल – इम्तियाज़ अली नें फिर किया तमाशा

जब हैरी मेट सेजल, इम्तियाज़ अली नें फिर किया तमाशा। हैरी मेट सेजल के साथ तरह-तरह की बातों का बाजार गर्म है; मसलन कोई फिल्म में कहानी की कमी बता रहा है तो कोई शाहरुख़ को एक्टिंग छोड़ने की सलाह दे रहा है। यहाँ तक की कोई उनका करियर ख़त्म होने की बात कर