Author Archive

हिंदी कविता – क्या लिखूँ ?

कविता शीर्षक – क्या लिखूँ ? रोज काल का ग्रास बन रही आसिफा, फिर कैसे मैं श्रृंगार लिखूँगा । देश चल रहा नफरत से ही, फिर कैसे मैं प्यार लिखूँगा । वंचित हैं जो अधिकार से अपने, उनका मैं अधिकार लिखूँगा । दुष्टों को मारा जाता है जिससे, अब मैं वही हथियार लिखूँगा ।

आधार कार्ड से जुड़ी जानकारियां

भारत में आज सबसे ज्यादा उपयोगी एंव सबसे ज्यादा जरूरी कोई डॉक्यूमेंट है तो वह है “आधार कार्ड”, Aadhaar Card की उपयोगिता भारत के हर नागरिक के लिए अहम है कर भारत के प्रत्येक हिस्से में प्रयोग किया जाता है। Aadhaar Card एक ऐसा सिस्टम बन चुका है जिसकी मदद से सरकार किसी भी

गूगल पर क्या सर्च ना करें ?

दोस्तों हम सभी जानते हैं की गूगल एक सर्च इंजन है। गूगल का कार्य है यूजर द्वारा पूछी गयी किसी क्वेरी का वाज़िब जवाब बतलाना। किन्तु क्या आप जानते हैं की गूगल सर्च इंजन में हमें किस प्रकार की क्वेरी को सर्च नहीं करना चाहिए ! मुझे मालूम है कि आप यह बात नहीं

पैरों का राजसी आभुषण – रजवाड़ी मोजड़ी

भारत जैसे समृद्ध और विविधतापूर्ण देश में , जंहा घाट-घाट पर पानी बदले बीस कोस पर बानी जैसी कहावतें वास्तविकता हों , वंहा कलाओं एवं नाना प्रकार के शिल्प का होना कोई नयी बात नहीं । दरअसल ये विविधता ही हमारी विरासत है , चाहे वो भौगोलिक दृष्टि से , मौसम , भाषा , वेशभूषा , कला संस्कृति , रीतिरिवाज़ , खानपान से ही क्यों न

वृद्ध आश्रम – अभिशाप या वरदान

उन आँखों ने भी देखें होंगे कुछ ख्वाब, ख्वाब एक भरे पूरे परिवार का, बच्चों के प्यार और अपनेपन का, ख्वाब खुद के सम्मान का, जीवन के अंतिम पलों में तनाव रहित समय का । अपने पूरे जीवन को बच्चों की ख़ुशी के लिए समझौते का रूप दे देते हैं जो माता-पिता , क्या

कांच पर सोने की उजास – थेवा ज्वेलरी

भारत हमेशा से ही विविधता से समृद्ध रहा है। भले वो भौगोलिक परिदृश्य हो, मौसम हो, खान-पान, रहन-सेहन यँहा तक कि कला-संस्कृति भी इससे अछूती नहीं है। इस देश में मौलिकता भी विविधता से विभूषित है। इसलिये इस अद्भुत देश का कण-कण विशेषता की अपनी परिभाषा से अभिव्यक्त है। तभी तो हमारे देश में ये कहावत

जीवंत रिश्तों का क़ातिल – पोर्नोग्राफी

विश्व में जब से सूचना-प्रौद्योगी क्रांति द्वारा सूचनायें सर्वसुलभ होने लगी है, तब से समाज में नवचेतना के साथ कई तरह की विसंगति भी देखने में आयी है। तकनीक ने जंहा एक ओर जीवन को नवीन जानकारी एवम संसाधन पूर्ण बनाया है, वंही सामाजिक बुराईयों को भी नये कलेवर के साथ पेश किया है।

कन्या भ्रूण हत्या – निबंध विचार

कन्या भ्रूण हत्या अर्थात मादा भ्रूण को गर्भ में ही खत्म कर देना। उसकी सांसों का फैसला क्यों उसके जन्म लेने से पहले ही सुना दिया जाता है ? क्या लड़की होना अभिशाप है !! क्यों उसे कोख में ही मार दिया जाता है ? कुछ लोग इस हद तक भी क्रूर होते है

निबंध – पर्यावरण प्रदूषण के प्रकार, समस्या और समाधान

औद्योगीकरण के जंजाल में फँसकर आज का मानव खुद भी मशीन की तरह एक निर्जीव पुर्जा बनकर रह गया है। आधुनिकता की एक होड़ में मानव को पर्यावरण की शुद्धता का ध्यान ही नहीं रह गया और यही कारण है कि उसका जीवन समस्याओं से ग्रस्त होने लगा है। मानव इस सृष्टि की सबसे

2019 की नई राष्ट्रिय शिक्षा नीति

गत कुछ वर्षों से सभी को नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का बेसब्री से इंतजार था। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2019 को लेकर सभी के मन में बहुत सारे सवाल उतपन्न हो चुके हैं कि कहीं शिक्षक की भर्ती प्रक्रिया जो थी वो मुश्किल तो नहीं हो गयी है ? तो हम बता दें कि