Author Archive

बीएचयू छात्राओं का दिशाहीन आंदोलन

बीएचयू पर एक नज़र: बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी की स्थापना सन 1916 में पंडित मदन मोहन मालवीय द्वारा की गयी। अतीत में बीएचयू को सेंट्रल हिन्दू कॉलेज के नाम से भी जाना जाता था। बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी का परिसर करीब 1300 एकड़ में फैला हुआ है, इतने बड़े ज़मीन का अनुदान कशी नरेश नें प्रदान

ब्लू व्हेल और हम

कांधला में गुरूवार को कक्षा 7वीं के एक क्षात्र नें ट्रेन से कट कर आत्महत्या कर ली। वजह का जब पता चला तो “ब्लू व्हेल” नामक खेल का नाम सामने आया। हिन्दुस्तान समेत अन्य कई देशों में भी ब्लू व्हेल मोबाइल गेम से हो रही मौतें चिंता का विषय बनीं हुयी हैं। देश के

म्यांमार रोहिंग्या मुसलमान-अत्याचार पर विश्व राजनीति और भारत की उलझनें

इन दिनों म्यांमार के “रोहिंग्या मुस्लिम” लोगों का विवाद पूरे विश्व में छाया हुआ है। भारत हमेशा ही रोहिंग्या प्रवासियों से दूरी बनाता आया है पर देश में मौजूद रोहिंग्या समुदाय के लोगों नें सुप्रीमकोर्ट में याचिका दाखिल की है। रोहिंग्या लोगों के अलावा देश में मौजूद कुछ मुस्लिम संगठन और अन्य राजनीतिक दल भी

बुलेट ट्रेन – फिर शुरू हो गई अमीर ग़रीब की राजनीति

13 सितंबर 2017 जापान के प्रधानमंत्री शिंजों आबे का किया गया भारतीय दौरा और फिर अगले दिन 14 सितंबर 2017 को देश की पहली बुलेट ट्रेन की घोषणा नें भारतीय राजनीति में चली आ रही सदियों पुरानी प्रथा अमीर बनाम गरीब के मुद्दे को फिर उजारकर कर दिया। विगत कुछ वर्षों में देश के

उनसे आखरी मुलाक़ात याद है मुझे

कुछ पल ज़िन्दगी के ऐसे होते हैं जो हमें हमेशा याद आते हैं; उन्हीं पलों में से एक है मोहब्बत । यह जीवन का वह पड़ाव है जहाँ से हर एक जवां दिल को गुजरना पड़ता है अमूमन तौर पर सभी का प्यार मुकम्मल नहीं होता । बेशक यह मुकम्मल न सही पर फिर

वामपंथ बनाम वामपंथ

” 5 सितंबर को रात 8:30 बजे एक और वामपंथी पत्रकार गौरी लंकेश की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। यह घटना उस वक़्त हुई जब गौरी बंगलुरु स्थित राजराजेश्वरी नगर अपने घर का दरवाजा खोल रही थीं तभी कुछ अज्ञात लोगों नें उनपर गोलियां बरसायीं। गोलियां गौरी लंकेश के सिर में जा लगीं

महाशक्ति का दावेदार कौन – भारत या चीन ?

फ्रांस को पछाड़ते हुए भारत दुनियां की छठवीं सबसे बड़ी इकॉनमी में शामिल हो गया है। अगर जी.डी.पी के आंकड़ों पर गौर फरमायें तो यह $2.45 Trillion के करीब है, इस लिहाज से भारत GDP के आधार पर दुनियां में तीसरे पायदान पर है। हालिया गुजरे वर्षों में भारत नें लार्जेस्ट इकॉनमी के पथ

हूँ इस शहर में अजनबी की तरह

भारत के एक छोटे से गांव या शहरों से आने वाले बच्चे जो अपने मन में बड़ी उम्मीदें और सपनें संजोए आते हैं, अमूमन तौर पे उन्हें उन सपनों को साकार करने की जद्दोजहत काफी करनी पड़ती है। तमाम तरह की परेशानियों से होता रोजाना सामना उनकी मनःस्थिति पर बहुत बुरा प्रभवा डालती है।

3 महीने का झूठा प्रेम – हिंदी कहानी

गीता के लिए आज का दिन काफी दुःखदायी था वह सोच रही थी कि विजय ऐसा कैसे कह सकता है। रातभर बिस्तर पर लेटकर वह यही सोचती रही की क्या इतना आसान होता है किसी को यह कह देना कि “अब मैं तुम्हारे साथ नहीं रहना चाहता” ! पर उसके पति विजय नें गीता

स्वामी रामदेव बाबा – जीवन परिचय और सफलता की कहानी

अपने वास्तविक नाम “रामकृष्ण यादव” से निकल कर “बाबा रामदेव” की छवि बनाने वाला यह शख्स जो दिखने में तो अति साधारण लगता है पर कार्य बड़े असाधारण किये हैं । पखेरू पर आज हम चर्चा कर रहे हैं योग गुरु स्वामी रामदेव की जो आज देश के जाने-माने हस्ती बन चुके हैं। शून्य