Author Archive

मणिकर्णिका – झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई, वीरांगना का शंघर्ष और जीवन परिचय

कौन थीं मणिकर्णिका ? आपको बता दें की झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई के बचपन का नाम था ‘मणिकर्णिका‘ जिन्हें प्यार से मनु कहकर पुकारा जाता था। रानी लक्ष्मीबाई के प्रमुख बिंदु: जन्म उत्तर प्रदेश के वाराणसी (काशी) जिले के भदौनी नामक शहर में हुआ था। जन्म तारीख दिनांक 19 नवंबर सन 1828 है। माता

गणतंत्र विशेष – पूर्ण स्वराज और गणतंत्र दिवस इतिहास, क्यों इतना है महत्वपूर्ण

Gantantra Diwas Kya Hai ? वैसे तो इस विषय की जानकारी लगभह प्रतेय भारतवासी को होगी। Republic Day Kyu Manate Hain इसके बारे में भी हम सभी देशवासी जानते होंगे। किन्तु प्रायः ये देखने अथवा सुनने में आता है कि युवा पीढ़ी, स्कूली बच्चे अभी भी इसके पूर्ण ज्ञान से वंचित हैं। वे सभी

क्या आप हमेशा उदास रहते हैं – अवसाद क्या है, कैसे समझें व बचाव करें

अमूमन तौर पे उदासी एक सामान्य बात है। इंसानी जीवन में ऐसे अनगिनत पल आते हैं जो हमें उदास कर देते हैं और यह तब होता है जब कोई कार्य हमारे उम्मीद के विपरीत हो या फिर अपना प्रिय कोई दुःखदायी बात कह जय अथवा अन्य प्रकार की सामाजिक घटना। मानवीय जीवन तमाम दुःखों

आरक्षण के ‘व्हीलचेयर’ पर बैठा देश का युवा

दिन शनिवार, दिनांक 29 दिसंबर 2018 के दिन देश के प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश के ग़ाज़ीपुर पहुंचे जहाँ उन्होंने हमेशा की तरह जनसभा को संबोधित किया। संबोधन के उपरांत जब पुलिस कर्मी अपने खेमे के साथ वापस लौट रहे थे तो उनपर कुछ अराजक तत्वों ने पथराव करना शुरू कर दिया। पथराव इतना तेज़ था

प्रयागराज अर्धकुम्भ शाही स्नान की तारिख -15 जनवरी 2019 प्रयाग, शाही स्नान क्या है

शाही स्नान क्या है ? शाही स्नान विशेषतः साधु संतों के सामूहिक स्नान को ही कहते हैं। शाही स्नान के दिन साधु संत बड़ी शान शौकत के साथ हाथी, घोड़े, ऊंट, रथ पर बैठकर भारी बैंड बाजों के साथ शहर में घूमते हुए स्नान घाट पर उपस्थित होते हैं। साधू – संतों की यह

न्यू इंडिया – ट्रेन 18, भारतीय रेलवे की बदलती तस्वीर

भगवान भरोसे कहे जाने वाली भारतीय रेल प्रणाली और व्यवस्था अब शायद बदलाव की करवट लेने वाली है। बदलते भारत की यही मांग भी है, क्यूंकि किसी भी देश का विकास काफी हद तक वहां की यातायात व्यवस्था पर भी निर्भर करता है। अभी तक हमने साधारण एक्सप्रेस ट्रेनों के अलावा राजधानी , शताब्दी

मकरसंक्रांति क्या है – क्यों मानते हैं मकर संक्रान्ति, महत्त्व और विशेषता

इस बार वर्ष 2019 की यह मकरसंक्रांति बेहद महत्त्वपूर्ण है। जिसकी खास वजह है प्रयागराज में आयोजित होने वाला अर्धकुम्भ। यूँ तो प्रतिवर्ष भारत के तमाम राज्यों व हिस्सों में Makar Sankranti मनाई जाती है किन्तु कुंभ में मकरसंक्रांति के दिन स्नान करने से इसकी विशेषता अत्यधिक गहरा जाती है। ऐसे में Prayag Raj

प्रयागराज – नाम की धार्मिक विशेषता, महत्ता पर एक नज़र

प्रयागराज भारत का एक ऐसा शहर जो भारतीय संस्कृति, पौराणिकता, शिक्षा, अध्यात्म, सिनेमा, साहित्य और राजनीति सभी दृष्टिकोण से जाना व पहचाना गया। उत्तर प्रदेश राज्य के पूर्वी भाग में स्थित ये शहर भारत के प्राचीनतम शहरों में से एक है। प्रयाग का नाम लेते ही हमारे मन में ये सवाल आता है कि

सचिन तेंदुलकर – गॉड ऑफ़ क्रिकेट, हिंदी बायोग्राफी व जीवनी

यूँ तो क्रिकेट एक खेल मात्र है पर क्या ऐसा भी हो सकता है कि किसी व्यक्ति को उस खेल का भगवान कह दिया जाय ! शायद नहीं !! किन्तु Cricket Ka Bhagwan जैसे शब्द से एक व्यक्ति ऐसा भी है जिसे नवाज़ा जा चुका है। अगर आप सच में क्रिकेट प्रेमी हैं तो

उलझा उलझा रहता है मन, जाने क्यूं !

उलझा उलझा रहता है मन, जाने क्यूं हरदम कुछ कहता है मन, जाने क्यूं ज़िन्दगी की कैद में अरमानों का पंछी है उम्मीदों के पंख लिए जिसकी हसरतें मचलती हैं उड़ जाने का करता है मन, जाने क्यूं ये कैसा मायाजाल है जिसने हमको घेरा है हर तरफ बस ख्वाहिशों का पहरा है जीवन