Author Archive

चैत्र नवरात्रि – Chaitra Navratri Pooja 28 March to 4 April 2017 नवरात्रि की स्वतः विधिवत पूजा अर्चना

नवरात्रि पूजा का हिन्दू धर्म में खास स्थान है और यह भारत के विभिन्न भागों में अलग अलग ढंग से मनाई जाती है। पूजा पाठ एवं अध्यात्म से जुड़े इस हिन्दू पर्व की शोभा देखते ही बनती है। गुजरात में इस त्यौहार को बड़े आनंद रूप से मनाया जाता है जिसमें जिसमें हिन्दू युवक

क्यों जरूरी है Anti Romeo Squad in Uttar Pradesh, महिला एवं बालिकाओं की सुरक्षा हेतु अनिवार्य

उत्तर प्रदेश में सत्ता क्या बदली वहां कि आबो हवा भी बदल रही है। वर्तमान मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी जी नें प्रशासन को पूर्णतः दुरुस्त करनें का जिम्मा उठा ही लिया है। बी.जे.पी द्वारा चुनावी सभाओं में जनता से कई तहर के वादे किये गये थे जिसमें से एक वादा महिला सुरक्षा को लेकर

मेरी गौरैया 20th March World Sparrow Day – एक घरेलू चिड़िया जो हमारे बीच रहती और हमसे बातें किया करती थी

पृथ्वी एक ऐसा ग्रह जहाँ जीवन है और सभी को जीने की पूर्ण आज़ादी भी है। कुदरत नें पृथ्वी नाम का एक ऐसा घर बनाया जहाँ हर कोई रह सके, पर किसे पता था कि ये खूबसूरत दिखने वाली पृथ्वी सिर्फ इंसानों की होकर रह जायेगी। तरक्की एवं उन्नति के जोश में इंसान नें

हिन्दी सिनेमा Bollywood Old Movies Villains – यादें पुरानें खलनायक और उनके किरदारों की

खलनायक ये वाक्य सुनते ही हमारे मन मस्तिष्क में एक छवि उभरती है जिसे जाना जाता है अपनी क्रूरता के लिये। हमारी हिंदी फिल्में जहाँ अनेक किरदार हैं , सबके अपने अंदाज़ हैं जिसके माध्यम से उन्होंने हमारा मनोरंजन किया बल्कि समाज में व्याप्त अच्छाई बुराई दोनों को अच्छे से प्रस्तुत किया। वैसे तो

अभिव्यक्ति की आजादी Freedom of Expression और राष्ट्रहित – क्या राष्ट्र हमारे लिये कोई मायने नहीं रखता

पिछले कुछ महीनों से देश के बड़े विश्वविद्यालयों में ‘राष्ट्रहित’ का मुद्दा गरमाया हुआ है जिसको लेकर ‘ABVP’ और ‘AISA’ छात्र समूह के बीच हिंसक झड़पें भी हुयीं हैं। क्या सच में Freedom of Expression राष्ट्रवाद से बड़ा है ? कहीं ऐसा तो नहीं अभिव्यक्ति कि आजादी की आड़ में हम अपने ही देश

गधे की राजनीति – UP Assembly Election 2017, गधे का महत्त्व सबको समझ में आ गया

उत्तर प्रदेश में चुनाव की गर्मी जोरों पर है , हर शहर रंगीन है , बड़े बड़े नेताओं का जमवाड़ा है पर इसके अलावा एक खास शख्स है जिसका बोलबाला कुछ ज्यादा ही है। पर वो शख्स इंसान नहीं बल्कि एक जानवर है जिसे हम दुनियाँ का सबसे मूर्ख प्राणी मानतें हैं; जी मैं