India vs Pakistan Cricket History – कौन कितने पानी में ?

कृपया अपने मित्रों को भी Share करें

18 June 2017 को खेले जाने वाले ICC Champion Trophy फाइनल मैच का सबको इंतज़ार है। खासकर इंडिया और पाकिस्तान दोनों ही मुल्कों के लिए क्रिकेट मैच आन बान और शान की बात होती है। चाहे भारत हो या पाकिस्तान दोनों में से किसी भी देश के लोग अपनी टीम को हारता हुआ नहीं देखना चाहते। भारत और पाकिस्तान के बीच के संबंध जगजाहिर हैं , दोनों ही एक दूसरे को फूटी आँख नहीं सुहाते ऐसे में बॉर्डर हो या फिर खेल का मैदान जंग दोनों जगह ही लड़ी जाती है। एक तरफ जहाँ भारतीय टीम को यह गुमान है कि वह किसी भी ICC Tournament में पाकिस्तान से नहीं हारी वहीँ पकिस्तान को बस यही एक कसर है की वह कैसे भी अपने ऊपर लगे कलंक को धो डाले कि वह भारत से आई सी सी प्रतियोगिता में जीत नहीं सकता। अगर हम ICC Tournament की बात करें तो बेशक हम पकिस्तान से नहीं हारे जो कि महज एक संयोग है परन्तु पकिस्तान ने अन्य tournaments में भारत की क्या हालत बना कर रखी है उसको जानने के लिए पुराने matches के रिकार्ड्स को देखना चाहिए।

भारत और पाकिस्तान के बीच हुए कुल क्रिकेट मैच का आंकड़ा

वक़्त के साथ साथ क्रिकेट भी बदलता जा रहा है, पहले Test Cricket Matches का बोल बाला हुआ करता था फिर One Day International Matches शुरू हुए जिसमें कुल 50 over फेके जाते थे एक टीम की तरफ से। समय कुछ और आगे बढ़ा फिर शुरू हुआ T20 Match यानि कि 20 – 20 over का खेल। गौर से देखें तो पांच दिन तक खेले जाने वाले टेस्ट मैच से एक दिवसीय मैच फिर बीस ओवर का खेल ; ऐसा लगता है की किसी के पास समय ही नहीं है लम्बा खेल देखने का। बातें चाहे जो भी हों Test Cricket , One Day Cricket and T20 Cricket ये सब खेले जा रहे हैं जिनसे लोगों का मनोरंजन भी भरपूर हो रहा है।

One Day International Cricket की अगर हम बात करें तो India vs Pakistan सन 1978 से लेकर 2017 तक कुल 128 Match खेले गये हैं जिसमें –

पाकिस्तान नें 72 मैचों में जीत हासिल की है।
भारत नें सिर्फ 52 मैचों में जीत हासिल की है।
4 मैचों का कोई परिणाम नहीं निकल सका।

ऊपर लिखे हुए आंकड़े को ध्यान से देखें तो सन 1978 से लेकर अब 2017 तक पकिस्तान भारत पर हावी है। पाकिस्तान का आंकड़ा यह दर्शाता है कि उसने अतीत में भारत को क्रिकेट के मैदान में कैसे पटखनी दे रखी है जिसकी अब तक भी भरपाई नहीं की जा सकी।

Test Cricket Match की अगर हम बात करें तो India vs Pakistan सन 1952 से लेकर 2007/2008 तक कुल 59 Match खेले गये हैं जिसमें –

पाकिस्तान नें 12 टेस्ट मैचों में जीत हासिल की है।
भारत नें सिर्फ 9 टेस्ट मैचों में जीत हासिल की है।
38 टेस्ट मैच बराबरी पर समाप्त हुए।

ऊपर दिया हुआ टेस्ट मैचों का आंकड़ा भी यह साफ दर्शाता है कि कैसे पाकिस्तान टेस्ट मैच में भी इंडिया पर भारी रहता था।

भारत पाकिस्तान की राजनितिक उथल – पुथल का नतीजा India और Pakistan के cricket पर भी पड़ा जिसकी वजह से दोनों देशों के बीच क्रिकेट मैच का खेल कई बार बंद हुआ। 2007 के बाद India vs Pakistan Test Match नहीं खेला गया और सिर्फ ICC Tournament को छोड़ कर इंडिया – पाकिस्तान के बीच क्रिकेट का कोई भी एकदिवसीय मैच नहीं हुआ। खेल के दृष्टिकोण से देखा जाय तो मेरा यही कहना है कि खेल और राजनीती दो अलग विषय हैं इनको आपस में नहीं मिलाना चाहिए।

ऊपर दिखाये गए One Day International and International Test Matches जो India vs Pakistan खेले गए उसमें अब तक पाकिस्तान का पलड़ा ही भारी रहा है। परन्तु जैसे ही हम T20 मैचों की तरफ देखना शुरू करते हैं उसमें भारत पाकिस्तान से आगे निकलता हुआ दिखाई देता है।

T20 Cricket Match की अगर हम बात करें तो India vs Pakistan सन 2007 से लेकर 2016 तक कुल 7 Match खेले गये हैं जिसमें –

भारत नें 5 टी-20 मैच जीते हैं।
पाकिस्तान को सिर्फ 1 टी-20 मैच में ही जीत मिली है।
1 टी-20 मैच जो बराबरी पर छूटा फिर भारत नें उसे भी 3 – 0 बोल्ड आउट से जीत लिया।

सन 2007 से India और Pakistan की राजनीतिक तल्खी बनी रही जिस कारण BCCI and PCB भी एक दूसरे से दूरी बनाते दिखे, जिसका नतीजा यह हुआ कि भारत और पाकिस्तान के मध्य क्रिकेट मैच की साझेदारी बंद हो गई। यह आपस में चिरप्रतिद्वंदी कहलाने वाले देश खेल के मैदान से गायब से हो गए जिसका लोगों को भी दुःख है।

10 साल यानि की एक पूरा दशक गुजर पड़ा है, जाने कितने महान खिलाड़ी दोनों ही देशों के अब अपनी – अपनी टीम में नहीं हैं। बीते 10 साल में पाकिस्तान क्रिकेट के मैदान में कमजोर हो गया है जिसका कभी दबदबा हुआ करता था। मैं यह जरूर कहना चाहूंगा कि सन 1992 से लेकर सन 2003 तक पाकिस्तान ने क्रिकेट के खेल में सभी देश की बेहतरीन टीमों को कड़ी प्रतिद्वंता दी और अनेकों मैच जीते। आज पाकिस्तान क्रिकेट कमजोरी के इस पायदान पर है कि उसका मजाक बनाया जा रहा है, वरना जब जब इंडिया और पाकिस्तान के मैच हुए मानों कोई युद्ध हुआ। सड़के सूनी हो जाया करतीं थीं , लोगों की नजर टी वी से हटती नहीं थी परन्तु आज इंडिया और पाकिस्तान का मैच एक तरफ़ा हो चुका है।

चलो कम से कम आई सी सी टूर्नामेंट के बहाने ही सही पर भारत और पाकिस्तान का मैच तो हुआ। राजनीतिक तल्खी और बॉर्डर पर तनाव के बीच दोनों देशों के खिलाड़ी एक दूसरे से हाथ मिलायेंगे तो शायद दोनों मुल्को और लोगों की प्रेम भावना फिर से जागे। 18 June 2017 , ICC Champion Trophy Final Match नहीं बल्कि एक शुरुआत है India vs Pakistan के रिश्तों को सुधारने की। दुश्मनी की आग में खेल जैसे प्रेम की आहूति देना कितना सही है ? क्या ये खेल के प्रति अन्याय नहीं ?

कल का मैच कोई भी जीते मगर विगत आंकड़ों को उठा कर देखें तो पकिस्तान सदैव भारत पर हावी रहा खेल के मैदान में। Test Match हो या One Day Cricket पाकिस्तान नें भारत से बेहतर प्रदर्शन किया है अब तक। इसमें कोई संदेह नहीं कि कमजोर पाकिस्तानी टीम एक मौका है भारतीय टीम के लिए की वो अपने पुराने आंकड़ों में परिवर्तन ला सके मौजूदा मैचों को जीतकर। भारती क्रिकेट टीम इस समय की बेहतरीन टीम है जिसको हराना किसी भी अन्य टीम के लिए काफी परिश्रम का कार्य है , ऐसे में भला पाकिस्तान भारत के आगे कैसा प्रदर्शन करेगा यह तो 18 जून को ही पता चलेगा।

दोनों ही देशों को यह ध्यान देना चाहिए की अपनी व्यक्तिगत उम्माद में खेल को बली का बकरा ना बनाएं। खेल प्रेम भावना को बढ़ाता है और प्रेम कुदरत का सबसे अनमोल तौफा है जो मनुष्य के जीवन में आनंद भर देता है।

 


कृपया अपने मित्रों को भी Share करें
कृपया नीचे अपना Comment जरूर दें :