क्या कहा इंडिया और पाकिस्तान फाइनल में ?

ICC Champions Trophy 2017 अब अपने अंतिम पड़ाव पर पहुँच गई है जो कि बस एक मैच ही दूर है और वह भी फाइनल मैच। इस पूरे Tournament में अगर किसी ने सबसे अच्छा प्रदर्शन किया तो वो है बारिश जिसने लगभग हर मैच में कभी धीमी – कभी तेज़ गती से रन बनाये …. चच्चा पूछे बारिश और रन ?? मैंने कहा और नहीं तो क्या रन तो बारिश भी बना रही थी तभी तो लगभग हर मैच में कुछ ओवर या फिर कुछ रन घटा दिए जाते थे आखिर वो किसके खाते में जा रहे थे ? बारिश के खाते में ही ना !!

इंडिया और पाकिस्तान आई सी सी चैंपियन ट्रॉफी 2017 के फाइनल में

चच्चा बोले अरे छोड़ो तुम तो हमेशा मजाक ही करते हो – फाइनल मैच की बात करो ! India Vs Pakistan है न रोमांचकारी ? हम्म्म … चच्चा की बात में दम तो है। India और Pakistan दोनों ही चिरप्रतिद्वंदी ICC Champions Trophy 2017 के फाइनल मुकाबले में …. बहुत पुराना याराना लगता है !! चच्चा बोले अरे मियाँ याराना नहीं दुश्माना यानि के दुश्मनी।

इंडिया – पाकिस्तान के रिश्ते सास बहु, देवरानी जेठानी, हंस लोमड़ी, सांप नेवले इत्यादि से भी बदत्तर है जो कभी भी नहीं सुधर सकता। वैसे आपको बता दूँ कि चच्चा पाकिस्तानी हैं; उम्र 50 के पार है मगर दिल किसी अल्हड लड़के से कम नहीं है और जब बात इंडिया पाकिस्तान क्रिकेट मैच की हो तो चच्चा का खून खौल जाता है अगर कोई ये कह दे कि पाकिस्तान हारेगा।

अरे भाई चच्चा पाकिस्तान में जन्में हैं तो अपने देश से लगाव तो रखेंगे ही क्यों है ना !! क्या कह रहे हैं आप मैं अपना परिचय दूँ ? ओह्ह ये तो हम भूल ही गए नाम तो सुना होगा अपने ” प्रेम ” प्रेम नाम है मेरा ….. अरे अरे नहीं प्रेम चोपड़ा नहीं , सिर्फ प्रेम कुमार। ये पाकिस्तानी चच्चा हमको फेसबुक पर मिले थे ; वैसे हम दोनों के रिश्ते में प्रेम भाव नहीं है …. बस यूँ ही फेसबुक पे India Pakistan cricket match को लेकर तू तू मैं मैं हुई और हम चच्चा के दोस्त बन बैठे।

ये 50 पार वाले चच्चा हमको प्रेम से प्रेम बुलाते हैं मगर मुझसे जरा भी प्रेम नहीं करते। हां पर चच्चा दुश्मनी बड़े प्रेम से निभाते हैं, मैंने कल कहा चच्चा को कि चच्चा अगर हम पहले बैटिंग किये तो 350 मारेंगे और यदि पहले बॉलिंग किये तो पाकिस्तान को 250 में समेट देंगे ! मेरी यह बात सुनते ही चच्चा बौखला गए, आपा खो बैठे … जो बोलना शुरू किये फिर रुके ही नहीं इतना भला बुरा तो जनरल परवेज़ मुशर्रफ भी नहीं कहते थे भारत के बारे में। चलिए का करना है चच्चा है बुढ़ाये गए हैं।

थोड़ा छेड़ते हैं पाकिस्तानी चच्चा को कुछ मजेदार चुटकुलों की मदद से – 🙂

सरफ़राज़ अहमद – हमलोग रोहित को 200 नहीं बनाने देंगे !
हसन अली – मगर कैसे भाई ?
सरफ़राज़ अहमद – अगर हम पहले बैटिंग किये तो 190 पर ही आल आउट हो जायेंगे।
हसन अली – वाह भाई … क्या प्लान बनाया है इन्शाह अल्लाह !!

सरफ़राज़ अहमद – चिन्ता में बैठा हुआ !
शोएब मालिक – भाई क्यों टेंशन ले रहा है !!
अज़हर अली शोएब से – भाईजान टेंशन में नहीं , इंडिया को हारने का प्लान बना रहे हैं।
शोएब मालिक – वाह फिर तो ठीक है इसबार तो हम इंडिया को हराकर ही छोड़ेंगे।
सरफ़राज़ अहमद – अरे .. चुप हो जाओ , मैं ये सोच रहा हूँ कि आई.सी.सी टूर्नामेंट में इंडिया से हारने का रिकॉर्ड कैसे मेंटेन रखेंगे !

सरफ़राज़ अहमद वहाब रियाज़ से – भाई तू बता टोटल कितने रन पड़वायेगा ?
वहाब रियाज़ – क्यों भाईजान !
सरफ़राज़ अहमद – अरे … अगर बैटिंग पहले हमने की तो उसी हिसाब से रन बनायेंगे ।

लगता है चच्चा नाराज हो गए जवाब नहीं दिया मेरे भेजे हुए चुटकुले का या फिर कोई फिरकी मारने की सोच रहे होंगे। सुना है लोग कह रहे हैं कि पाकिस्तान और भारत 10 साल के बाद किसी फाइनल मुकाबले में आमने सामने हैं ऐसे में दबाव पाकिस्तानी टीम पर आ गया है कि अगर हारे तो ईद ख़राब तो होगी ही, कुछ दिन यहीं इंग्लैंड में ही गुज़ारने पड़ेंगे क्योकि वहां तो घर के बाहर जूते , चप्पल , अंडे , टमाटर और पत्थर फेंके जा रहे होंगे ऐसे में भला कोई अपनी जान जोखिम में क्यों डाले … वो कहावत तो सुनी है ना – जान है तो जहान है।

अरे चच्चा गुस्सा थूक दो ! यह बताओ आजकल तो इंडिया पाकिस्तान बॉर्डर पर भी काफी गरमा गर्मी है इसका मैच पर असर होगा की नहीं ? चच्चा बोले, जैसे हम बॉर्डर पर जवाब देते हैं ना वैसे ही फाइनल मैच में जवाब देंगे सभी हिन्दुस्तानियों को ! ….. हम्म चच्चा जोश में हैं।

मैंने चच्चा से कहा – 18 June 2017 को भारत में Father’s Day Celebrate किया जाता है। फादर्स डे ये क्या है ? चच्चा फादर्स का मतलब बाप और डे का मतलब दिन समझे आप ? चच्चा बेचारे 50 साल के हैं नहीं समझ पाये। चच्चा पाकिस्तान भारत से ही निकला है ना ? चच्चा अब कैसे नकारें , बोले हां निकला है तो क्या ! मैंने कहा बस निकला हमसे है तो उस लिहाज़ से भारत उसका बाप हुआ ना ….. इतना सुन चच्चा कहाँ चुप रहने वाले थे !! खूब सुनाया हमें खरी खोटी … मैंने प्रेम हूँ , इसलिए प्रेम से कहा – आई.सी.सी चैंपियन ट्रॉफी का फाइनल मैच जो इंडिया पाकिस्तान के बीच होना है वो 18 जून 2017 को है और हिन्दुस्तान उसदिन फादर्स डे मनाता है ऐसे में पाकिस्तान को अपने फादर भारत को गिफ्ट देना चाहिए की नहीं देना चाहिए ? चच्चा मेरी बातें सुन बौखलाए जा रहे थे … लेकिन कहें तो क्या कहें सच्चाई को कैसे ठुकराएं।

बाप-बाप होता है और बेटा-बेटा होता है, तो क्या बेटे को अपने बाप को गिफ्ट नहीं देना चाहिए चच्चा बोले हाँ देना तो चाहिए ; फिर चच्चा अगर पाकिस्तान Champions Trophy भारत को देदे तो उससे बड़ा गिफ्ट क्या होगा एक बाप के लिए। बात सुन चच्चा से ना रहा गया बोले – बाप का काम बेटे से लेना नहीं बेटे को अपना सबकुछ देना होता है ; हर बार गिफ्ट बेटा ही देगा क्या कभी फादर भी दे दे …. हीहीहीहीहीही फिर मैं और चच्चा हंस पड़े।