स्वास्थ्य Health – Sehat हेल्थ का रखें ख़याल Archive

मुँहासों से छुटकारा कैसे पायें – दाग, धब्बे व गड्ढे कैसे मिटायें

कील मुँहासे एवं उसके दाग धब्बे किसी भी सुन्दर चेहरे के आकर्षण को ख़राब कर देते हैं। अभी भी इस समस्या का कोई पुख्ता हल तो नहीं है सिवाय बचाव व घरेलु उपायों के। सामान्यतः किशोरावस्था में चेहरे पर चंद दाने निकल आना स्वाभाविक हो सकता है किन्तु कभी कभार मुँहासे गंभीर रूप धारण

उच्च रक्तचाप – हाई बीपी की समस्या

क्या है रक्तचाप ? रक्तचाप वो बल है जो ह्रदय की हर एक धड़कन के साथ रक्त वाहिकाओं (blood vessels) की दीवारों पर पड़ता है। रक्तचाप की इस क्रिया से हमारे पूरे शरीर को रक्त पहुँचाने में सहायता मिलती है। अपने रक्तचाप को कैसे मांपें ? आज के समय में बड़ी आसानी से आप

कोलेस्ट्रॉल क्या है ?

आज हम बात कोलेस्ट्रॉल की करेंगे जो हमारे शरीर की लिए आवश्यक तो है किन्तु कोलेस्ट्रॉल की अधिकता हमारे लिए हानिकारक और कभी कभी जानलेवा भी साबित हो जाती है। ह्रदय रोगी, दिल के मरीज कोलेस्ट्रॉल की अधिकता को अच्छी तरह समझते होंगे; किन्तु एक सामान्य व्यक्ति भी यह जरूर जाने की कोलेस्ट्रॉल क्या

हृदयगति रुकना – हार्ट फेल कैसे होता है !

Heart Failure in Hindi क्या आप जानते हैं Heart Fail Kaise Hota Hai ? हृदयगति का रुक जाना, जी मित्रों आज पखेरू का विषय स्वास्थ्य से जुड़ा है जहां हम चर्चा करने जा रहे हैं Congestive Heart Failure जैसे ख़तरनाक विषय की। वर्ष 2016 के आंकड़े हमें बताते हैं की भारत की कुल आबादी

लोअर बैक पेन – पीठ के नीचले हिस्से का दर्द, क्या करें और क्या ना करें

Low Back Pain in Hindi क्या करें और क्या ना करें जब लोअर बैक पेन हो। दोस्तों कहा जाता है की शरीर से ही सब कुछ है अर्थात दुनियां का हर ऐशो आराम हमारे लिए तब ही मायने रखता है जब हमारा शरीर पूरी तरह स्वस्थ हो। निरोग शरीर किसी दौलत से कम नहीं

3 महीने की गर्भावस्था

3 महीने की गर्भावस्था 3 Month Pregnancy को हिंदी में जानिये। गर्भावस्था को कुल 3 तिमाही में बांटा गया है – क)- पहले महीने से तीसरे महीने तक के चक्र को – प्रथम तिमाही कहते हैं जिसमें कुल 12 हफ्ते होते हैं।ख)- चौथे महीने से छठे महीने तक के चक्र को – द्वितीय तिमाही

‘नवजात शिशु’ विशेष जानकारियां – पहली बार माता पिता बने दंपतियों के लिए

पहली बार माता पिता बनना जीवन का एक विशेष अनुभव होता है। इस विषय में माता-पिता के मन में कई विचार जन्म लेते हैं, नाना प्रकार के सवाल जन्म लेते हैं जो कि स्वाभाविक भी है। आज हम आपके शिशु की शारीरिक विशेषतायें और व्यव्हार को बतायेंगे जिसे आप अपने नये जन्म लिए बच्चे

गर्भावस्था के दौरान आहार – गर्भवती महिलाओं का खान पान कैसा होना चाहिए

यक़ीनन किसी भी स्त्री के लिए गर्भवती होना ख़ुशी का क्षण होता है मगर दूजी ओर स्त्री के मन में नाना प्रकार के प्रश्न भी आते हैं। सर्वाधिक प्रचलित प्रश्न की अगर हम बात करें तो आहार को लेकर गर्भवती महिलाएं ज्यादा प्रश्न पूछती हैं। यह बात बुरी नहीं है, माँ अपने शिशु को

भ्रूण गतिविधि गणना – गर्भ में पल रहे बच्चे कि हलचल की गणना कैसे करें

माँ बनना हर स्त्री के लिए आनंद का विषय होता है। कहा भी यही जाता है कि स्त्री तब तक पूर्ण नहीं होती जब तक की वो मातृत्व सुख की प्राप्ति न कर ले। यही कुदरत का नियम भी है जो सिर्फ मनुष्य पर ही नहीं वरन पृथ्वी के हर प्राणियों पर लागू होता

क्या आप हमेशा उदास रहते हैं – अवसाद क्या है, कैसे समझें व बचाव करें

अमूमन तौर पे उदासी एक सामान्य बात है। इंसानी जीवन में ऐसे अनगिनत पल आते हैं जो हमें उदास कर देते हैं और यह तब होता है जब कोई कार्य हमारे उम्मीद के विपरीत हो या फिर अपना प्रिय कोई दुःखदायी बात कह जय अथवा अन्य प्रकार की सामाजिक घटना। मानवीय जीवन तमाम दुःखों