गर्म पानी में नमक डालकर नहाने के फायदे – कई बिमारियों में लाभदायक है नमक का स्नान

कृपया अपने मित्रों को भी Share करें

खाना कितना भी अच्छा बना हो अगर नमक थोड़ा सा ऊपर नीचे हो जाये पूरा स्वाद बिगड़ जाता है। जी हां जनाब, कई लोग नमक कम खाते हैं कई लोग थोडा सा ज्यादा लेकिन नमक ऐसी चीज़ है जिसके बिना किसी का भी गुजरा नहीं हो सकता। फीकी सी हो जाएगी जिंदगी अगर ये नमक न हो तो लेकिन क्या आपको पता आपकी रसोई में पड़ा नमक आपकी कई बीमरियों में रामबाण इलाज सिद्ध हो सकता है।

Salt Water Bath गर्म पानी में नमक डालकर नहाने के फायदे

हड्डी का दर्द:

दर्द का सोच कर ही जान निकल जाती है लेकिन फिर भी आजकल तेज़ी से भागती ज़िन्दगी मे हम खुद का ख्याल नहीं रख पाते हैं। बदले में हम कई सारी बीमरियों को बुलावा देते हैं जिनमे से एक है हड्डी का दर्द। पहले ये शिकायत बुजुर्गो को होती थी लेकिन आजकल ये बीमारी युवाओं मे भी आम हो गयी है। आपको या आपके किसी प्रियजन को हड्डी मे दर्द की शिकायत है तो आप उनको ये सलाह जरुर दें। जब भी वो नहाने जाएं तो हल्के गुनगुने गर्म पानी में एक चम्मच नमक डालकर नहायें उनको हड्डी के दर्द से राहत मिलेगी।

त्वचा रोग (स्किन प्रॉब्लम):

खुजली ऐसी चीज़ है जो आपको शारीरिक से कहीं ज्यादा मानसिक रूप से परेशान करती है। सोचो किसी मीटिंग मे बैठे हो या ससुराल गये हुए हो और खुजली होने लगे तो क्या करोगे। भाई मजाक नहीं उड़ा रहे हैं हम तो इलाज बताने आये हैं , हां तो जब भी नहाने के लिए जाएं एक चमच्च नमक अपने पानी मे डाल लें। ये बात बिलकुल न भूलें जब आप ऐसा करेंगे तो आपकी त्वचा पर थोड़ा दर्द होगा और खुजली करने का खूब मन करेगा लेकिन ऐसा ना करें। दर्द की बात तो ये है कि लोहा ही लोहे को काटता है। आज का दर्द कल का सुकून लाएगा, तो आगे से कोई कहीं दिख भी जाये खुजली करता तो ये उपाय बिना देरी किये उसे बता देना उचित होगा।

जोड़ों का दर्द:

बुजर्गो मे ये समस्या आम होती है तभी आपने देखा भी होगा कि अखबार भी भरे पड़े रहते हैं ऐसे विज्ञापनों से की फलां बाम लगाएं या इस तेल से मालिश करें और दर्द को कोसों दूर करें। लोग खरीदते हैं और होता क्या है ? वो आदि हो जाते हैं इन चीजों के, तो आप उनको ये सलाह दें की जब भी वो नहाने जाएं तो एक चम्मच नमक अपने पानी में मिला लें। ऐसा करने पर उनको जोड़ों के दर्द में राहत जरूर मिलेगी।

फोड़ा फुंसी में भी कारगर है:

गर्मी और बरसात के मौसम मे ये बीमारी आम है और बच्चों में तेज़ी से फैलती है। इससे दर्द तो होता ही है ये देखने मे भी बहुत ख़राब लगती है। अगर समय रहते इसका इलाज न हो तो बाद मे ये ठीक तो हो जाती है लेकिन साथ मे छोड़ जाती है दाग तो समय रहते किसी को भी ये बीमरी हो तो रोज़ नमक डालकर बच्चों को नहलायें, फोड़ा फुंसी से आराम मिलेगा ही मिलेगा।

ये सलाह है, वैसे ही जैसे आपको कभी-कभी पेट दर्द हुआ तो माँ नें काला नमक और हिंग दे दी और पेट दर्द भाग गया। पेट दर्द हिंग लेने के बाद भी न जाए मतलब गंभीर समस्या है तो ऊपर लिखे उपाय भी ऐसे ही हैं। आप सोच समझकर इनका उपयोग करें, अगर कुछ दिनों के इस्तेमाल से राहत नहीं मिलती तो डॉकटरी सलाह लेना भी न भूलें क्योंकि यह केवल सामान्य घरेलू उपचार हैं परन्तु दुर्लभ समस्याओं में आप अपने डॉक्टर से जरूर मिले।

 

लेखक:
विभू राय


कृपया अपने मित्रों को भी Share करें