आधार कार्ड से जुड़ी जानकारियां

कृपया अपने मित्रों को भी Share करें

भारत में आज सबसे ज्यादा उपयोगी एंव सबसे ज्यादा जरूरी कोई डॉक्यूमेंट है तो वह है “आधार कार्ड”, Aadhaar Card की उपयोगिता भारत के हर नागरिक के लिए अहम है कर भारत के प्रत्येक हिस्से में प्रयोग किया जाता है। Aadhaar Card एक ऐसा सिस्टम बन चुका है जिसकी मदद से सरकार किसी भी व्यक्ति को Track कर सकती है। आधार कार्ड पर अंकित नंबर हमारे ट्रैकिंग नंबर कहलाते हैं और सरकार दावा करती है की आधार भविष्य में भ्रष्टाचार व घुसपैठ को रोकने में कारगर साबित होगा। आज हम आपको Aadhaar से जुड़ी अनेक जानकारियां देने वाले हैं।

तो आइये जानते हैं आधार कार्ड के बारें में –

आधार कार्ड क्या है ?

भारत सरकार के प्राधिकरण UIDAI (भारतीय विशिष्ट पहचान पत्र) द्वारा आधार कार्ड जारी किया गया। UIDAI द्वारा पहला आधार कार्ड 29 सितंबर 2010 को जारी किया गया। अभी तक UIDAI ने 108 करोड़ आधार कार्ड जारी कर दिए हैं। यह एक 12 अंको की विशिष्ट संख्या है, यह संख्या व्यक्ति की पहचान, जाती एंव निवास का प्रमाण है। हर एक व्यक्ति के लिए अलग-अलग अंक जारी किये जाते हैं एंव इनके ऊपर लगा एक बार कोड भी जानकारी को संग्रहित रखता है।

Aadhaar-Card-Ki-Jankari
फोटो, स्थाई पता, लिंग, जन्म तिथि और 12 अंकों का आधार संख्या

आधार कार्ड किसका बन सकता है ?

Aadhaar Card बनवाने के लिए उम्र की बाध्यता नहीं है, व्यक्ति किसी भी उम्र में अपना आधार कार्ड बनवा सकता है। इतना ही नहीं नाबालिंग बच्चों का भी आधार कार्ड बनाया जा सकता है। पर नाबालिग और जवान दोनों के आधार कार्ड बनवाने की अलग-अलग प्रक्रिया है। बच्चे एंव बड़े दोनों के आधार कार्ड बनवाने के योग्य हैं। हां इसमें एक शर्त ये है की आधार कार्ड केवल भारत की नागरिकता प्राप्त वाला व्यक्ति ही बनवा सकता है। आपको बता दें की आधार किसी भी तरह की नागरिकता प्रदान नहीं करता वह तो सिर्फ स्थाई ‘पते’ एंव ‘व्यक्ति’ की पहचान मात्र के लिए है।

आधार कार्ड बनवाने की प्रक्रिया क्या है ?

UIDAI द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार आधार कार्ड बच्चे एंव बड़े दोनों ही बनवा सकते हैं। आधार के लिए किसी भी तरह का कोई पैसा नहीं लिया जाता, यह बिलकुल मुफ्त है। आप अपने नजदीकी बैंक शाखा में जाकर या फिर नजदीकी आधार केंद्र में जाकर अपना और बच्चे का आधार कार्ड बनवा सकते हैं।

बच्चे का आधार कार्ड बनवाने की जानकारी:

5 साल से कम उम्र के बच्चे के लिए –

  • अगर बच्चे की उम्र पांच साल से कम है तो बच्चे का जन्म प्रमाणपत्र एंव बच्चे के माता-पिता का आधार सबमिट किया जाएगा।
  • 5 साल से कम की उम्र के बच्चे का आधार उसके माता-पिता के आधार से लिंक होगा। ऐसे बच्चों का फिंगरप्रिंट एंव रेटिना इत्यादि नहीं लिया जाता। इसलिए बच्चे के आधार को बच्चो के माता-पिता के साथ जोड़ दिया जाता है।

5 साल तक की उम्र वाले बच्चे के लिए –

  • अगर बच्चे की उम्र 5 साल है तो उसका रेटिना एंव 10 उँगलियों के फिंगरप्रिंट लिए जायेंगे। इसके साथ ही उसके माता-पिता का भी आधार कार्ड उसके साथ लिंक किया जाएगा।
  • उसके बाद जब उसकी उम्र 15 वर्ष हो जायेगी उस वक्त भी उसे दुबारा अपना आधार कार्ड अपडेट करवाना होगा।

समान्य आधार कार्ड कैसे बनवाया जाता है ?

यदि आप पहली बार अपना आधार कार्ड बनवाने जा रहे हैं तो आपको सबसे पहले अपने पास निम्न दस्तावेज रखने होंगे –

  • पहचान पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • सरकारी कर्मचारी द्वारा लिखित (पंचायत सत्र द्वारा जारी लेटर)
  • परिवार के किसी अन्य आधार कार्ड होल्डर का आधार (अगर उसके पास है तो)
  • दसवीं कक्षा की मार्कशीट व प्रमाणपत्र

अगर आपके पास ऊपर दिए गये दस्तावेजों में से कोई भी दो दस्तावेज हैं जिनमे आपका स्थाई पता एंव आपकी आयु का सही विवरण है तो आप उनकी मदद से अपना Aadhaar Card बनवा सकते हैं। आधार कार्ड बनवाने के लिए आपको सबसे पहले अपने नजदीकी आधार सेंटर जाना होगा। यहाँ पर आधार सेंटर अधिकारी आपके दिए डोक्युमेंट की जांच करेगा एंव उसके बाद आपके हाथों की उंगलियों का fingerprint scan करेगा और साथ में आपकी eye retina भी स्कैन की जायेगी। उसके बाद आपको एनरॉलमेंट नंबर दे दिया जाएगा। उसके बाद आप आधार की ऑफिसियल वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाकर एनरॉलमेंट नंबर की मदद से डाउनलोड कर कर सकते हैं। अगर आप डाउनलोड नहीं भी करते तो कोई बात नहीं, Unique Identification Authority of India आपके दिए पते पर आपका आधार पत्र 15 से 30 दिनों में डाक पोस्ट द्वारा भेज देगी।

आधार कार्ड के फायदे क्या हैं ?

आधार कार्ड के फायदे इस तरह हैं –

  • आधार कार्ड व्यक्ति का एक सोशल पहचान पत्र है, यह आपके भारतीय होने का भी सबूत है।
  • आधार संख्या की मदद से आप बैंकिग, मोबाइल फ़ोन कनेक्शन एंव सरकारी कार्यों से संबधित सभी कार्य करने में सक्षम हैं।
  • आधार की मदद से कोई आपकी नकली पहचान नहीं बना सकता है।
  • आधार किसी भी जाती या वर्ग से संबधित नहीं है यह सभी को समान रूप से अधिकार देता है।
  • आधार की मदद से आप सरकारी लोन इत्यादि भी ले सकते हैं।
  • आप इसे पासपोर्ट बनवाने के लिए भी उपयोग में ले सकते हैं।
  • सिम कार्ड के लिए भी आधार जरूरी है।
  • स्कूली छात्रों को मिलने वाली छात्रवृति भी आधार कार्ड की मदद से ही मिलती है।
  • आधार आपकी पहचान के लिए जरूरी है आप किसी भी एग्जाम में बैठते हैं तो आधार आपसे पहचान के लिए लिया जा सकता है।
  • बायोमेट्रिक एंव डिजिटल लोकर में भी आधार का उपयोग किया जा सकता है।

नोट** इंटरनेट पर बढ़ते अपराध की रोकथाम के लिए सरकार आने वाले दिनों में Facebook जैसी सोशल वेबसाइट को आधार से जोड़ने की कोशिश करेगी। नकली नामों का उपयोग कर समाज में हिंसा, अपहरण जैसे जघन्य अपराध सोशल वेबसाइट के द्वारा फैलाये जा रहे हैं। अतः सरकार हर व्यक्ति के फेसबुक अकाउंट को आधार से जोड़ने की अनिवार्यता पर विचार कर रही है।

आधार ना होने के क्या नुकसान हैं ?

यदि किसी के पास आधार कार्ड नहीं है तो उसे अनेक तरह के नुकसान हो सकते हैं –

  • आधार कार्ड ना हो तो BPL धारकों को राशन भी नहीं मिल सकता।
  • आधार के बिना आप किसी भी हॉस्पिटल में सरकारी मदद से ईलाज नहीं करवा पायेंगे।
  • आप बैंक अकाउंट भी नहीं खुलवा पाएंगे।
  • आपके पास आधार कार्ड नहीं है तो आप विदेश यात्रा नहीं कर पायेंगे क्योंकि पासपोर्ट बनवाने के लिए आधार जरूरी कर दिया गया है।
  • आप बिना आधार कार्ड के अपने बच्चे को भी स्कूल में एडमिशन नहीं दिलवा पायेंगे।
  • पेंशन के लिए भी आधार कार्ड बहुत जरूरी है, अन्यथा पेंशन रोक दी जायेगी।
  • आधार के बगैर आप किसी भी सरकारी सेवा का लाभ नहीं ले सकते।

कुछ समय से UIDAI लगातार आधार कार्ड में परिवर्तन कर रही है. इन कुछ सालों में आधार कार्ड में यह परिवर्तन हुए हैं –

  • आधार में नाम परिवर्तन करवाने के लिए दो बार मौके दिए जायेंगे एंव इसकेलिए आपके पास पासपोर्ट, पहचान पत्र , मार्कशीट, पंचायती लेटर इत्यादि में से कोई दो दस्तावेज का होना जरूरी है।
  • आधार में जन्मतिथि को भी बदला जा सकता है उसे बदलने के लिए आपको अपने क्षेत्रीय आधार सेंटर जाना होगा।
  • आधार में लिंग का चुनाव सिर्फ एक बार ही किया जा सकेगा उसके बाद आधार में लिंग परिवर्तन नहीं किया जा सकेगा।

आधार कार्ड आज हर एक भारतीय के लिए जरूरी है। यह पहचान का ही नहीं हमारी मूल-भूत सुविधाओं का भी साथी है। ऐसे में अगर आपके पास आधार कार्ड नहीं है तो आप अपने नजदीकी आधार सेंटर या बैंक शाखा जाकर आधार कार्ड जरूर बनवा लें, केवल अपना ही नहीं अपने सभी बच्चों का भी आधार अवश्य बनवायें।

लेखक:
अभिषेक मौर्या


कृपया अपने मित्रों को भी Share करें
Comments
  1. Pavitra Kumar

Post A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *