सुकन्या समृद्धि योजना – एक बचत बेटी के नाम

कृपया अपने मित्रों को भी Share करें

सुकन्या समृद्धि योजना इसे अंग्रेजी में Girl Child Prosperity Account भी कहते हैं। इस योजना की शुरुआत 22 January 2015 को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा पानीपत हरयाणा से किया गया था। आपको बता दें की Sukanya Samriddhi Yojana का आरंभ बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत हुआ था जिसका मुख्य उद्देश्य है कन्या जन्म व उसके जीवन की सुरक्षा।

हरयाणा राज्य से इस योजना का आरंभ इसलिए किया गया ताकि वहां के लोगों को कन्या शिशु व उसके जन्म के प्रति जागरूक किया जा सके। हरयाणा राज्य भारत में कन्या भ्रूण हत्या के मामलों में अव्वल रहा है किन्तु अब हालत पहले से काफी बेहतर हुए हैं।

sukanya-samridhi-yojana-details-in-hindi
सुकन्या समृद्धि – एक बचत बेटी के नाम

आईये ‘सुकन्या समृद्धि योजना‘ को अच्छे से जानते हैं और अपने मित्रों, पड़ोसियों व रिश्तेदारों तक इस स्कीम को पहुंचाते हैं ताकि वे दम्पति इसका लाभ उठा सकें जिनकी 10 वर्ष से कम की बेटियां हैं –

कौन इस योजना में पंजीकरण करवा सकता है ?

  • इस योजना का लाभ केवल वे दम्पति ले सकते हैं जिनकी खुद की संतान हो
  • यह योजना केवल बेटी संतान के लिए है
  • इस योजना में गोद ली हुई बेटियों के दम्पति शामिल नहीं हो सकते
  • सरोगेसी द्वारा बने बेटियों के माता पिता भी इस योजना का हिस्सा नहीं बन सकते
  • बेटी की जन्म तिथि से लेकर अधिकतम 10 वर्ष की आयु होने तक इस योजना से जुड़ा जा सकता है
  • बेटी के 10 वर्ष से अधिक हो जाने पर आप सुकन्या समृद्धि योजना से नहीं जुड़ सकते
  • केवल 1 या 2 बेटी होने पर आप इस योजना से जुड़ सकते हैं
  • एक बेटी के नाम पर 1 से ज्यादा अकाउंट नहीं लिया जा सकता है
  • यदि किसी दम्पति की तिड़वां बेटियां (Triplet Girl Childbirth) जन्म लेती हैं तब वह इस योजना से जुड़ सकता है
  • यदि कोई दम्पति 1 जुड़वा (Twins) बेटियां और कुछ साल बाद 1 अन्य बेटी को जन्म देता है तो वह भी इस योजना का लाभ ले सकता है
  • इस योजना के अंतर्गत अलग अलग 3 बेटियों का पंजीकरण नहीं करवाया जा सकता है, अधिकतम 2 बेटियां ही मान्य हैं

क्या हैं इस योजना के नियम और शर्तें ?

  • सुकन्या समृद्धि का अकाउंट, पंजीकरण की तारीख़ से अगले 15 सालों तक चलाना अनिवार्य होता है
  • सुकन्या समृद्धि का अकाउंट, 21 साल बाद बंद हो सकता है और आप अपने जमा पैसे निकाल सकते हैं
  • सुकन्या समृद्धि खाते में आप न्यूनतम 250 रुपये प्रति वर्ष और अधिकतम 150,000 रुपये प्रति वर्ष जमा कर सकते हैं

सुकन्या समृद्धि योजना से जुड़ने के क्या हैं फायदे ?

  • इस योजना में जमा आपके पैसों पर 80C के अंतर्गत टैक्स छूट का लाभ मिलता है।
  • यह योजना पूरी तरह Exempt Exempt Exempt (EEE) अर्थात पूर्णतः टैक्स रहित है। डेढ़ लाख तक जमा किये पैसे पर आपको कोई टैक्स नहीं देना होगा, जमा पैसों पर मिलने वाले ब्याज पर भी आपको कोई टैक्स नहीं देना होगा और 21 साल बाद की मैच्योरिटी के उपरांत पैसे निकालने पर भी आपको टैक्स नहीं देना होगा।
  • सुकन्या समृद्धि खाते पर प्रोविडेंट फण्ड और पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड से आधा परसेंट (0.5) अधिक ब्याज मिलता है।
  • सुकन्या समृद्धि खाते पर सरकारी बांड से भी आधा परसेंट (0.5) अधिक ब्याज मिलता है।

क्या सुकन्या समृद्धि खाते पर सरकार निश्चित ब्याज़ देती है ?

नहीं, Sukanya Samriddhi Account पर कोई निश्चित ब्याज़ नहीं मिलता। सरकार हर तीसरे महीने (quarterly) सुकन्या समृद्धि खाते पर मिलने वाले ब्याज़ का रिव्यु करती है। 22 जनवरी सन 2015 में जब इस योजना की शुरुआत की गयी थी तब इसपर 9.1% का ब्याज़ दिया जाता था। वित्तीय वर्ष 2016 में यह बढ़कर 9.2% हुआ फिर 2017 के वित्तीय वर्ष में इसपर मिलने वाला ब्याज़ घटकर 8.6% हुआ।

फ़िलहाल वर्ष 2019 में सुकन्या समृद्धि खाते पर मिलने वाले ब्याज़ का प्रतिशत है 8.4%, अतः आप देख सकते हैं की सरकार कैसे इसपर मिलने वाले ब्याज़ को बार बार रिवाइज कर रही है। किन्तु इतना तो निश्चित है की सुकन्या समृद्धि में जमा आपके पैसों पर PF, PPF और Government Bonds से आधा प्रतिशत अधिक ब्याज़ मिलेगा और कोई टैक्स भी नहीं लगेगा।

क्या हम बीच में अपने पैसे निकाल सकते हैं ?

वैसे तो हमें इस खाते को कम से कम 15 साल तक चलाना अनिवार्य है और कुल 21 वर्षों के उपरांत इसकी अधिकतम अवधि पूरी हो जाती है। मैंने आपको ऊपर बताया है की आप अधिकतम 10 वर्ष की बेटी का इसमें पंजीकरण करवा सकते हैं। समझदारी तो यही है कि आप बेटी के जन्म के उपरांत ही सुकन्या समृद्धि के लाभांशी बने या फिर कम से कम अगले 1 वर्ष के उपरांत तो पंजीकरण करवा ही लें; क्योंकि जितनी देरी होगी उतना ही आपको लंबा इंतज़ार करना पड़ेगा पैसे पाने के लिए।

जहां तक पैसे बीच में निकालने का प्रश्न है तो वह आप अपने पंजीकरण की तारीख से बेटी के 18 वर्ष तक हो जाने पर कुल जमा पैसों का 50% हिस्सा निकाल सकते हैं। मान लीजिये आपने 5 वर्ष की आयु में अपनी की बेटी का सुकन्या समृद्धि योजना में पंजीकरण करवाया। नियम के मुताबिक आपको अगले 15 वर्षों तक पैसे नहीं निकालने हैं, किन्तु जैसे ही आपकी बेटी 18 वर्ष की होती है आप अपने जमा किये गए पैसे का पचास प्रतिशत हिस्सा (50%) निकाल सकते हैं। लेकिन बेटी के 18 वर्ष के होने से पहले पैसा नहीं निकाला जा सकता।

50% पैसा निकालने के लिए भी आपको सरकार को कोई उचित कारण बताना पड़ेगा जैसे – बेटी की शादी, बेटी की बड़ी शिक्षा, बेटी की बीमारी या चिकित्सा हेतु, लेकिन इन कारणों के अलावा बेटी का 18 वर्ष का होना भी जरूरी है।

खैर, जब पैसा जमा करने का ही उद्देश्य है तब उसे पहले निकालने के बारे में सोचना ही नहीं चाहिए। 15 साल तक जमा किये गए पैसे निश्चित ही एक बड़ी रकम के रूप में आपके सामने आएंगे। सबसे बड़ी बात की यह एक सरकारी Scheme है और इसमें आपके पैसे पूरी तरह सुरक्षित हैं। इसमें ब्याज़ दर भी अन्य सरकारी योजनाओं से अधिक है अतः आप सुकन्या समृद्धि योजना का नियमों के तहत लाभ लें तो बेहतर रिटर्न मिलेगा।

अगर किसी वर्ष हम पैसे ना जमा कर पायें तो क्या होगा ?

ऊपर मैंने आपको बताया है की Sukanya Samriddhi Account में सालाना मात्र 250 रुपया भी जमा किया जा सकता है। आप समझ सकते हैं की ये कितना छोटा अमाउंट है, इतना छोटा अमाउंट तो ग़रीब से ग़रीब व्यक्ति भी साल में जुटा लेगा। चलिए फिर भी मान लेते हैं किसी कारणवश आप 250 रुपये भी ना जमा कर पाए तो क्या होगा –

ऐसी स्थिति में यह खता निष्क्रिय (deactivate) हो जायेगा। निष्क्रिय होने का अर्थ ये नहीं की अब आप कभी इस खाते को दुबारा नहीं चला सकते। जी बिल्कुल आप दुबारा इस खाते को चला सकते हैं लेकिन पुनः शुरू करने से पूर्व आपको एक छोटी सी दंड राशि (penalty amount) 50 रुपये देनी होगी। अतः 50 रुपये पेनल्टी चार्ज देने के बाद आपका सुकन्या समृद्धि खाता फिर से चालु हो जायेगा।

इसी प्रकार जब-जब आपका खता निष्क्रिय होगा तब-तब आपको 50 रुपये का पेनल्टी चार्ज देकर उसे दुबारा शुरू करना होगा। दोस्तों साल में 250 रुपये बेहद कम होते हैं इसलिए आप कभी भी अपने खाते को निष्क्रिय ना होने दें क्योंकि उससे मिलने वाले ब्याज़ पर भी गहरा प्रभाव पड़ता है।

सुकन्या समृद्धि योजना से कैसे जुड़ें ?

इसकी प्रक्रिया बेहद सरल है। आप अपने क्षेत्र के नजदीकी पोस्ट ऑफिस में जाकर Sukanya Samriddhi Account खोल सकते हैं। इसके लिए आपके पास निम्न दस्तावेज होने चाहिए –

  • बेटी का जन्म प्रमाण पत्र (birth certificate)
  • माता पिता या कानूनी अभिभावक का – PAN card, Ration card, Driving licence, Aadhaar card, Passport पहचान पत्र
  • बेटी यदि 5 या 10 वर्ष की है तो आपसे उसका आधार कार्ड मांगा जा सकता है किन्तु अनिवार्य नहीं है
  • माता पिता या कानूनी अभिभावक का पता प्रमाण (address proof) – Aadhaar card, Passport, Ration card, Driving licence आदि

मैं आपको बता दूँ की कई बड़े सरकारी व गैर सरकारी बैंक भी सुकन्या समृद्धि का खाता खोलते हैं अतः यदि आपके घर के आस पास कोई बड़ा बैंक है तो आप वहां जाकर सुकन्या समृद्धि के सन्दर्भ में बात कर सकते हैं। यदि आपका सुकन्या समृद्धि अकाउंट बैंक में है तब आप घर बैठे आसानी से उसमें महीने या सालाना पैसा डाल सकते हैं। किन्तु यदि आप पोस्ट ऑफिस में खाता रखते हैं तब आपको हर महीने या सालाना पोस्ट ऑफिस जाकर पैसा जमा करना होगा।

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने हेतु sample form यहाँ से देखें। यह एक केवल सैंपल फॉर्म है जिसे देखकर आप जान सकते हैं की किस किस प्रकार की जानकारी मांगी जा रही है। खाता खुल जाने के बाद आपको एक पासबुक दिया जायेगा जो इस प्रकार का हो सकता है sample passbook.

ध्यान दें**

बैंकों ने सुकन्या समृद्धि अकाउंट के लिए Standing Instruction की सुविधा दे रखी है। अतः यदि आप ये चाहते हैं की आपके सेविंग बैंक अकाउंट से महीना या सालाना एक निश्चित तारीख़ को पैसा कट कर अपने आप सुकन्या खाते में जमा हो जाय तो ये आप स्टैंडिंग इंस्ट्रक्शन का फॉर्म भरकर बैंक को आदेश दे सकते हैं। इस प्रकार हर महीने आपके बैंक खाते से पैसे ऑटोमॅटिकली कट कर जमा हो जायेंगे और किसी महीने भूलने से बच जायेंगे। किन्तु यहाँ आपको बैंक को एक निश्चित राशि भी बतानी पड़ेगी जो आप जमा करना चाहते हैं और उतनी राशि आपको हर महीने या साल आपके खाते में रखना अनिवार्य होगा।

कैसे जमा करने हैं पैसे ?

दोस्तों जैसा मैंने कहा है की आप सुकन्या खाते में साल में अधिकतम डेढ़ लाख (150,000) तक की राशि जमा करा सकते हैं। यह पैसा आप चाहें तो साल में एक बार जमा कर सकते हैं या फिर हर महीने थोड़ा थोड़ा करके जमा कर सकते हैं।

साल में डेढ़ लाख जमा करने की कोई अनिवार्यता नहीं है अतः आप अपनी क्षमता से कम या ज्यादा पैसा डाल सकते हैं किन्तु साल में कम से कम 250 रुपये जमा करना जरूरी है।

आप 1 महीने में एक से ज्यादा बार पैसे जमा कर सकते हैं, उसी प्रकार आप साल में 1 से अधिक बार जमा कर सकते हैं; बस शर्त ये है की कुल 150,000 से ज्यादा नहीं होना चाहिए। यदि आपने 150,000 से ज्यादा रुपये जमा कर दिए तो आपको अतिरिक्त दिए गए पैसे पर टैक्स छूट नहीं मिलेगी। अतः यदि आपने डेढ़ लाख की बजाय साल के 2 लाख जमा करा दिए तो आपको अतिरिक्त जमा किये गए 50,000 रुपये पर सरकार को टैक्स देना पड़ जायेगा। इसलिए समझदारी इसी में है की साल के केवल 1 लाख, 50 हज़ार रुपये ही जमा किये जायें।

ध्यान देने योग्य बात**

सुकन्या समृद्धि खाते में आप यदि महीना निवेश करते हैं तब आप हर महीने 10 तारीख़ से पहले पैसे डाल दें। जैसे – यदि आपने 10 जनवरी के बाद पैसा डाला तो उसपर ब्याज़ फ़रवरी महीने से मिलना शुरू होगा। किन्तु यदि आपने 10 तारीख़ से पहले ही खाते में पैसे डाल दिए तो आपको जनवरी माह का भी ब्याज़ मिलेगा। यह छोटी छोटी भूल हमारे पैसे को कमजोर कर देती है; लगभग हर प्रकार के निवेश में पैसा महीने के 10 तारीख़ से पहले ही जमा कर देना चाहिए ताकि आपके जमा किये गए पैसे पर उस महीने का भी ब्याज़ शामिल हो अन्यथा आपको एक महीने के ब्याज़ का नुक्सान हो जाता है।

क्या सुकन्या समृद्धि को अच्छा निवेश माना जा सकता है ?

जी बिल्कुल, 100% यह एक अच्छा इन्वेस्टमेंट है। मैं हर अभिभावक से कहूंगा की सुकन्या समृद्धि को आप एक बड़े निवेश के तौर पर लें। यदि आप अच्छा कमा लेते हैं तो कृपा करके सलाना 150,000 रुपये जमा करें तो अच्छा परिणाम देखने को मिलेगा। यदि आप कुछ कम कमाते हैं तो आप जितना अधिक हो सके उतना अधिक पैसा जमा करने की जरूर कोशिश करें। पैसा होते हुए भी अगर आप 250, 500, 1000 जैसी रकम जमा करेंगे तो आपको अच्छा रिटर्न नहीं मिल पायेगा।

ख़राब से ख़राब स्थिति में भी साल का 10,000 तो पूरा किया ही जाना चाहिए। हां, कुछ भाई बंधू साल में दस हज़ार भी निवेश कर पाने में असक्षम हैं तो वे अपनी जेब के अनुसार पैसे जमा करें। फिर भी कोशी रखें की महीना 500 रुपये तो दिया ही जाय।

बेटियों के वे पिता व माता जो असंगठित क्षेत्रों में कार्य करते हैं और उनके पास ज्यादा पैसा नहीं है जमा करने हेतु वह कम से कम 250 रुपये तो जरूर डालें। यदि किसी महीने या वर्ष कुछ अतिरिक्त पैसे आएं तो आप उसे सुकन्या खाते में डाल दें।

चुंकि मैंने ये बताया है की सुकन्या समृद्धि खाते में सरकरी बांड और प्रोविडेंट फण्ड से 0.5% ब्याज़ अधिक मिलता है अतः आप निवेश में हिचकिचायें नहीं। सालाना मिलने वाला चक्रवृद्धि ब्याज़ (compounding interest) अगले 15 सालों में आपके पैसे की ताक़त को कई गुना बढ़ा देगा और यदि आपने 21 वर्ष बाद पैसे बाहर निकाले तो वह पैसा बहुत बड़ा होगा, जो काम आएगा बेटी की शादी, उसकी शिक्षा या फिर आपके के किसी जरूरी काम में।

किसी भी निवेश को यदि 15 से 20 सालों तक जारी रखा जाय तो वह निश्चित ही एक बड़ी राशि बन जाती है जो आपकी आर्थिक दशा सुधारने के साथ आपके बुढ़ापे का सहारा बनती है। सुकन्या समृद्धि योजना कोई म्यूच्यूअल फण्ड नहीं है जिसपर मार्किट रिस्क आये, इसलिए मेरा अभिभावकों से निवेदन है की इसमें पैसे जमा करने से बिल्कुल भी परहेज़ ना करें और बेटी के जन्म के उपरांत ही इसे चालू करें। यह योजना पूरी तरह जोख़िम रहित है और बेटी के जीवन कल्याण में सहायक है।

नीचे उन बैंकों के नाम हैं जिनको रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने सुकन्या समृद्धि अकाउंट खोलने की इजाज़त दे रखी है। हो सकता है कुछ नाम मुझसे छूट गए हों अतः, दी गयी सूचि के अतरिक्त कोई बैंक है जो आपके पास है तो आप कृपया वहां जाकर पता कर सकते हैं।

Sukanya Samriddhi Savings accounts (SSA) की सेवा देने वाले बैंकों की सूचि –

1Axis Bank
2Andhra Bank
3Allahabad Bank
4State Bank of India
5Bank of Maharashtra
6Bank of India
7Bank of Baroda
8Vijaya Bank
9Indian Overseas Bank
10Indian Bank
11IDBI Bank
12ICICI Bank
13HDFC Bank
14United Bank of India
15Union Bank of India
16UCO Bank
17Punjab National Bank
18Syndicate Bank
19Punjab & Sind Bank
20Oriental Bank of Commerce
21Dena Bank
22Corporation Bank
23Canara Bank
24Central Bank of India

चलिए थोड़ा हिसाब लगाते हैं की सुकन्या समृद्धि खाते में कितना रूपया सालाना जमा करने से कितना रुपया प्राप्त हो सकता है ?

चूँकि सुकन्या समृद्धि खाते का ब्याज़ सरकार हर 3 महीने पर रिवाइज करती रहती है अतः इसे मैंने औसतन 8.5% मान लिया है। निवेश समय बेटी की उम्र 1 साल मान लिया और शुरूआती वर्ष 2020 लिया है। अतः यह निवेश वर्ष 2035 में जाकर पूरा होगा। इसके अनुसार निम्न समीकरण बनते हैं –

1अगर सालाना निवेश 5000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 228,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
2अगर सालाना निवेश 10000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 455,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
3अगर सालाना निवेश 15000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 683,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
4अगर सालाना निवेश 20000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 911,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
5अगर सालाना निवेश 25000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 1,138,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
6अगर सालाना निवेश 30000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 1,366,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
7अगर सालाना निवेश 35000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 1,594,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
8अगर सालाना निवेश 40000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 1,821,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
9अगर सालाना निवेश 45000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 2,049,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
10अगर सालाना निवेश 50,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 2,277,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
11अगर सालाना निवेश 55,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 2,504,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
12अगर सालाना निवेश 60,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 2,732,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
13अगर सालाना निवेश 65,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 2,960,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
14अगर सालाना निवेश 70,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 3,187,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
15अगर सालाना निवेश 75,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 3,415,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
16अगर सालाना निवेश 80,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 3,643,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
17अगर सालाना निवेश 85,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 3,871,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
18अगर सालाना निवेश 90,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 4,098,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
19अगर सालाना निवेश 95,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 4,326,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
20अगर सालाना निवेश 100,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 4,554,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।
अंत में सालाना कुल 150,000 रुपये के निवेश की स्थिति के अनुसार रिटर्न –
21अगर सालाना निवेश 150,000 रुपये का है तो:
Maturity Year सन 2035 में कुल 6,830,000 रुपये का Maturity Amount प्राप्त होगा।

ऊपर दी गयी तालिका के हिसाब से आप अंदाज़ा लगा सकते हैं की कम से कम 5000, फिर 100,000 और अधिकतम 150,000 रुपये प्रतिवर्ष Sukanya Samriddhi Yojana में Invest करने पर कुल 21 वर्षों में आपके पास कितनी रक़म जमा हो जायेगी।

यह एक best investment plan है जिसमें न सिर्फ आपको अच्छा return मिल रहा है बल्कि आप पूरी तरह सुरक्षित भी हैं। फिर देरी किस बात की आज ही अपनी बिटिया रानी के लिए सुकन्या समृद्धि खाता खोलें और उसके भविष्य को सुरक्षित करें। आईये हम सब मिलकर “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ” अभियान में शामिल होकर उसे आगे बढ़ाते हैं।

लेखक:
रवि प्रकाश शर्मा


कृपया अपने मित्रों को भी Share करें

Post A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *