Ravindra Gaikwad रविन्द्र गायकवाड़ का रावड़ी रूप – कर दी Air India Staff कि चप्पलों से पिटाई

हाल ही चर्चा में आये महाराष्ट्र के एक शिवसेना सांसद ‘रविन्द्र गायकवाड़’ (Ravindra Gaikwad) एयर इंडिया (Air India) के कर्मचारी की चप्पलों से पिटाई करने बाद से सुर्ख़ियों में छाये हैं। रविन्द्र गायकवाड़ ने अपनी यात्रा में हुई असुविधा के लिए अपनी रावडी इमेज के अनुकूल एयर इंडिया के कर्मचारी को 25 बार चप्पलों से मारा और इसको उन्होंने अपनी शेखी बघारते हुए खुलेआम कबूल भी किया। गायकवाड़ का कहना है कि वो Air India के विमान में बिज़नेस क्लास कि सीट चाहते थे और इसके लिए उनकी बात एयर इंडिया की कर्मचारी से हुई परन्तु वो कर्मचारी उनसे बत्तमीज़ी से पेश आये जिसके लिए उन्होंने ऐसी हरकत की और उन्होंने यहाँ तक भी कहा की उनको अपनी इस हरकत का कोई अफसोस नहीं है और वह इसके लिए उस कर्मचारी से माफ़ी नहीं मांगेंगे।

Ravindra Gaikwad-Air-India-Controversy

गायकवाड़ के इस हरकत के बाद से फेडेरेशन ऑफ इंडियन एयरलाइन्स (FIA) ने उनकी भविष्य की विमान यात्रा पर रोक लगा दी है। FIA के अन्तर्गत स्पाइसजेट ,इंडिगो, गोएयर , जेटएयरवेज कंपनिया है और इनसब नें इस सांसद के विमान यात्रा पे रोक लगाया है। इतने के बावजूद गायकवाड़ इसबात पे अड़े हैं कि वो विमान से यात्रा करेंगे और एयर इंडिया को उन्होंने चेतावनी दी है की वह दिल्ली से वापस इसी विमान से जायेंगे और कोई उनको रोक के तो दिखाए उनकी धमकी की वजह से एयरपोर्ट की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है।

अगर हम गायकवाड़ के अतीत को देखें तो इनका विवादों से पुराना नाता रहा है जून 2014 में शिवसेना के 11 सांसदों पे दिल्ली के महारास्ट्र सदन में एक मुस्लिम कर्मचारी को रमजान के समय जबरदस्ती रोजा तुड़वाने का आरोप लगा था जिसमें गायकवाड़ का नाम भी था इतना ही नहीं गायकवाड़ के अपनी सांसदीय छेत्र उस्मानाबाद के DSP के साथ बत्तमीज़ी का विडियो भी सामने आया । गायकवाड़ के ऊपर दर्जनों केस दर्ज है, ये सांसद राज्य के प्रतिनिधि होते हैं और ये अपनी गरिमा को ध्यान में रखे बीना अपनी शक्ति का प्रदर्शन करते हैं तथा अपने अधिकारों का दुरप्रयोग करते है। अपनी रावडी इमेज दिखानें वाले अकेले गायकवाड़ ही नहीं और भी कई ऐसे नेता हैं जिन्होंने अपनी शक्ति का प्रदर्शन बेवजह किया है। नवम्बर 2015 में एक कांग्रेस सांसद ने तिरुपति एयरपोर्ट मेनेजर को चांटा मारा था वजह बस इतना था की बोर्डिंग बंद होने के बाद उसने सांसद और उनके परिवार को अंदर जाने से रोक था।

शिवसेना के ही विधायक अनिल कदम अपने कुछ साथी के साथ नासिक के पास मुम्बई आगरा हाइवे पीपलगांव के टोल बूथ को लूट लिया था वो भी बस इसलिए की उन्होंने इस विधायक से टोल टैक्स माँगा था। इन विधायको और सांसदों के गलत हरकत का आम जनता के बिच क्या सन्देश जा रहा है? इनका विशेषाधिकार और इस विषेशाधिकार का जो हनन इनके द्वारा किया जा रहा है वो निंदनीय नहीं है जिसको वो यह मानाने को भी तैयार नहीं; वो अपनें द्वारा किये हरकतों को शेखी बघारते हुए बता रहे हैं और इनका साथ भी इनकी पार्टी दे रही है। अब शिवसेना अपनें इस सांसद के ऊपर लगे बैन को हटवाने में जुटी हुई है, भला किसे पसंद आएगी सांसदों की ऐसी रावडी इमेज जो जनता के हितों के लिये चुनकर आते हैं पर कार्य ठीक उसके विपरीत करते हैं। एयर इण्डिया के स्टाफ नें मार खाने के बाद जो कहा वो सच में सोचने पर विवश करता है उन्होंने कहा कि ” जिस देश में ऐसे सांसद हों भगवान उस देश को बचाये ” ।

शिव सेना जो अपनें इस अभद्र सांसद की वकालत में लगी है उसे ये चाहिए था कि वो गायकवाड़ जी के ऊपर दबाव बनाये और उनसे माफी मांगने के लिए कहे। पर शिव सेना तो उल्टा Air India पर ही इल्ज़ाम लगा रही है। अगर ऐसी हर राजनीतिक पार्टियां इसी तरह का व्यवहार करेंगी तो उनके उपद्रवी सांसदों का मनोबल और बढ़ेगा जिससे वह भविष्य में और भी घृणित कार्य को अंजाम देंगे।