ब्लॉग से कमाई – ब्लॉग्गिंग से पैसा कैसे कमायें, जानिये क्या हैं तरीके

कृपया अपने मित्रों को भी Share करें

Blog Se Kamayi Kaise Kare ब्लॉग से कमाई करने के क्या तरीके हैं ? इस प्रकार के सवाल अक्सर नए ब्लॉगर पूछते पाये जाते हैं। किसी भी कार्य को करने के पीछे उससे धन प्राप्त करने का उद्देश्य तो छुपा होता है अतः Bloggers का इन सवालों का पूछना गलत नहीं। आज का मेरा यह लेख पूरी तरह how to earn money from blog ? जैसे विषय पर केंद्रित है। मैं यह मानकर चल रहा हूँ कि आपके पास पहले से एक ब्लॉग है। अगर आप यह भी जानना चाहते हैं की ब्लॉग कैसे बनायें तो उसकी चर्चा हम अगले लेख में करेंगे।

ब्लॉग हिंदी का हो या इंग्लिश का, दोनों ही भाषाओं के माध्यम से आप सफल ब्लॉगर बन सकते हैं। आप ये कभी न सोचें की इंग्लिश नहीं आती तो आप ब्लॉग्गिंग में अपना करियर नहीं बना सकते !! हिंदी Blog बहुत तेज़ी से उभर रहे हैं और आने वाले 8 से 10 सालों में Hindi Blog और Hindi Blogging का करियर बहुत तेज़ी से उठेगा। Google, Facebook समेत अन्य विदेशी कंपनियां हिंदी भाषा को लेकर बेहद सचेत हैं। हिंदी का महत्त्व इसी से समझ में आ जाना चाहिए कि Google assistant ने अपने उत्पादों को अब Hindi समझने के लायक भी बना दिया है अतः अगर आप हिंदी में बोलकर कोई कमांड देंगे तो उसे Google assistant समझकर उसके मुताबिक कार्य करेगा। Amazon alexa assistant ने तो यह कह दिया है कि हम हिंदी बोली के अतिरिक्त भारत की अन्य क्षेत्रीय भाषाओं पर भी काम कर रहे हैं।

आज का हमारा विषय भाषा पर आधारित न होकर Blog Earning या Income कैसे और कहाँ से करें उसपर आधारित है। तो चलिए बिना देरी किये सभी बिंदुओं पर गौर करते हैं। नीचे मैंने 7 सफल माध्यम बताये हैं जहाँ से bloggers अच्छा पैसा कमा सकते हैं।

मुख्य तरीके अथवा माध्यम ब्लॉग से कमाई करने के:

पहला (1) – ब्लॉग को Monetize करके CPC अथवा CPM विज्ञापनों से कमाई करें
दूसरा (2) –
प्राइवेट कंपनियों के विज्ञापन बेचकर
तीसरा (3) – अपने लेख में Affiliate Link शामिल करके
चौथा (4) –
डिजिटल उत्पादों (digital products) को बेचकर
पांचवां (5) – भौतिक उत्पादों (physical products) को बेचकर
छठवां (6) – प्रायोजित लेखन (sponsored writing) करके
सातवां (7) – अपनी विश्वसनीयता (your credibility) के माध्यम से

ऊपर लिखे 7 प्रमुख बिंदुओं को विस्तार से जानते हैं:

ब्लॉग से कमाई कैसे करें-ऑनलाइन ब्लॉग्गिंग से पैसे कमाने के तरीके
ब्लॉग से कमाई कैसे करें – ऑनलाइन ब्लॉग्गिंग से पैसे कमाने के तरीके

पहला (1) – अपने ब्लॉग को Monetize करके CPC अथवा CPM विज्ञापनों से कमाई करें

ब्लॉग से कमाई का पहला माध्यम है Add Monetization जिसमें Google Adsense का नाम सबसे ज्यादा प्रचलित है। गूगल एडसेंसे से ऐड मॉनेटाईज़ेशन करने के लिए आपको गूगल एडसेंसे में अप्लाई करना होगा। अगर गूगल ऐडसेंस आपकी वेबसाइट को ऐड दिखाने की स्वीकृति प्रदान करता है तो आप अपने Blog पर Add Display करने के लिए योग्य हो जाते हैं।

अगर आपका ब्लॉग Google Adsense के लिए स्वीकृति प्राप्त नहीं कर पाता तो आप Chitika, Infolinks और Media.net जैसे अन्य ऐड एजेंसी से भी Monetize करा सकते हैं। गूगल एडसेंसे की स्वीकृति न मिल पाने के कई कारण होते हैं जिनकी चर्चा हम अगले लेख में करेंगे। अगर एडसेंसे या अन्य ऐड की स्वीकृति आपको मिल जाती है तो आप उनके ऐड को अपने Blog पर लगा सकते हैं। ब्लॉग पर आने वाले Add को मुख्य रूप से Display Adds के नाम से जानते हैं जो क्रमशः 2 तरह के होते हैं – CPC/PPC Ads और CPM Ads, इन प्रकारों की चर्चा हम आगे करेंगे।

दूसरा (2) – अपने ब्लॉग से अन्य कंपनियों के विज्ञापन बेचें

अगर आपको लगता है कि आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक बहुत है तो आप Private Ads Selling का भी काम कर सकते हैं। आपके ब्लॉग की प्रसिद्धि को देखते हुए कई कंपनियां आपसे संपर्क साध सकती हैं या आप स्वयं प्राइवेट ऐड लेने के लिए कंपनियों से बात कर सकते हैं। इसके अंतर्गत आपको उक्त कंपनी का Banner, Button, Video, Infographics या फिर Link अपने Blog पर लगाना होता है। निजी ऐड बेचने का फायदा यह है कि यहां आप अपने मन मुताबिक पैसे मांग सकते हैं। इस क्रिया में आप और कंपनी के बीच कोई अन्य तीसरा व्यक्ति नहीं होता। इस तरह के विज्ञापन के लिए आप कंपनी से मासिक शुल्क ले सकते हैं या फिर किसी निश्चित अवधि तक ऐड दिखाने के लिए पैसे ले सकते हैं।

तीसरा (3) – अपने लेख में Affiliate Link शामिल करके

अपने ब्लॉग पर Affiliate Link दिखाने का सीधा अर्थ है Affiliate Marketing. आजकल हर प्रकार के उत्पाद ऑनलाइन बेचे जा रहे हैं, अगर हम बड़ी ecommerce companies की बात करें तो Amazon, Flipkart, Paytm, Snapdeal, Jabong, ebay, Limeroad और Voonik इत्यादि जैसे कई बड़े नाम सुनने को मिलते हैं। यह सभी कंपनियां अपना affiliate network भी चलाती हैं, जिसमें कोई भी व्यक्ति अप्लाई कर सकता है।

अगर आप भारत में है और अपने ब्लॉग पर amazon.in का सामान बेचना चाहते हैं तो कृपया नीचे दिए लिंक पर जायें।
https://affiliate-program.amazon.in

अगर आप भारत में है और अपने ब्लॉग पर flipkart.com का सामान बेचना चाहते हैं तो कृपया नीचे दिए लिंक पर जायें।
https://affiliate.flipkart.com/

यहाँ आपको अपना अकाउंट बनाना होता है जिसे affiliate account कहा जाता है। अपनी कुछ जानकारियां देने के बाद आप अपने ब्लॉग के अनुसार जो प्रोडक्ट चाहें वो यहाँ से लेकर अपने ब्लॉग पर लगा सकते हैं। प्रोडक्ट लगाने का अर्थ ये है कि जिस प्रोडक्ट को आप चुनते हैं उसका कोड आपको दिया जाता है जो HTML, Javascript, Link के रूप में होता है। यह दिया गया code आप अपने ब्लॉग पर जहाँ लगाना चाहते हैं वहां लगा दें। Code को लगाने के उपरांत उस जगह पर चुने हुए प्रोडक्ट की photo, price, buy button दिखने लगता है। जब आपके ब्लॉग का कोई यूजर उस प्रोडक्ट पर क्लिक करेगा और समान खरीदेगा तो आपको बिके हुए समान का कुछ प्रतिशत कमीशन के रूप में मिल जायेगा। एफिलिएट से पैसा ज्यादा कमाया जा सकता है किन्तु उसके लिए आपके Blog पर Traffic बेहद अधिक होना चाहिए।

चौथा (4) – डिजिटल उत्पादों को बेचकर

डिजिटल उत्पाद जिसे अंग्रेजी में Digital Products कहते हैं। डिजिटल प्रोडक्ट में – eBook, Book PDF, Online Course, Online Workshop, Image Photographs, Video, Music, Apps, Plugins, Tools, Theme, Illustrations इत्यादि जैसे नाम प्रमुखता से आते हैं। इस तरह के डिजिटल उत्पाद आप अपने ब्लॉग पर बेच सकते हैं, आप यह ध्यान रखें कि आप किस क्षेत्र में ज्यादा ब्लॉग्गिंग करते हैं उसके अनुरूप डिजिटल प्रोडक्ट का चुनाव करें। ये digital products आप किसी अन्य कंपनी का भी ले सकते हैं या फिर आप अपना भी बनाकर बेच सकते हैं।

पांचवां (5) – भौतिक उत्पादों को बेचना

यह थोड़ा जटिल है, या यूँ कहें कि हर किसी के बस का नहीं। भौतिक उत्पाद रोजमर्रा के जीवन में उपयोग करने वाली वस्तु होती है। एक छोटा उदहारण लेते हैं – जैसे आप अपने फ़ोन को बेचना चाहते हैं तो क्या करेंगे ? सिर्फ फोटो लगाना और उसकी कीमत ब्लॉग पर लिख देने से ग्राहक तो खरीदेगा नहीं। यह भी हो सकता है कि आप जो फ़ोन बेच रहे हों वह पहले से ही किसी दुकान पर सेकंड हैंड में कम कीमत पर मिल रहा हो। यह भी हो सकता है कि कोई अन्य व्यक्ति उसी तरह के फ़ोन मॉडल को OLX और Quikr पर उतने ही पैसे में बेच रहा हो। अब आप अपने ब्लॉग से अपने ही फ़ोन को कैसे बेचेंगे ?

यहाँ पर आपकी और आपके ब्लॉग की विश्वसनीयता ही काम आती है। अतः एक ब्लॉगर को अपने रीडर के साथ हमेशा जुड़कर रहना चाहिए फिर चाहे उसके विचार आपके के द्वारा लिखे गए लेखों के प्रति नकारात्मक ही क्यों न हों। अपने पाठकों के कमेंट की आलोचना करने की बजाय उसे भी स्वीकारें।

अपनी विश्वसनीयता और अपने लेख की विश्वसनीयता को आप जितना अधिक बढ़ायेंगे लोग आपसे जुड़ते जायेंगे अतः भौतिक उत्पाद इसी शर्त पर बेचे जा सकते हैं। अपने मोबाइल फ़ोन को बेचने के लिए आप एक अच्छा लेख बनाएं और उसमें बताएं कि उसे आप क्यों बेचना चाहते हैं ? , फ़ोन की वर्तमान स्थिति की सही जानकारी दें , कीमत उचित रखते हुए उसे बेचने का प्रयास करें।

फ़ोन तो सिर्फ एक उदहारण के रूप में मैंने लिया मगर आप अन्य भौतिक उत्पादों को बेच सकते हैं जैसे – हाथ के बने हुए वस्त्र स्वेटर, कलाकृतियां, सिलाई कढ़ाई बुनाई से बनी वस्तु, घर की साज सज्जा के सामान…इत्यादि। अगर आपके घर में पहले से ही कोई व्यापार है तो उसके लिए भी ग्राहक आप अपने ब्लॉग से बना सकते हैं।

छठवां (6) – प्रायोजित लेखन करें

प्रायोजित लेखन को अंग्रेजी में Sponsored Writing कहते हैं। किसी प्रोडक्ट विशेष या फिर कंपनी विशेष के लिए लिखा गया लेख स्पॉन्सर्ड राइटिंग का हिस्सा होता है। अगर आपके ब्लॉग की domain authority अच्छी होने के साथ साथ traffic भी अच्छा है तो आपके पास प्रायोजित लेखन करने का प्रस्ताव आ सकता है। Niche Blogging करने वाले ब्लॉगर अधिकतर प्रायोजित लेखन करते पाए जाते हैं। किसी खास विषय पर ब्लॉग्गिंग करना ही ‘नीश ब्लॉग्गिंग’ कहलाता है और ऐसे ब्लॉग को ‘नीश ब्लॉग’ कहते हैं जैसे – टेक्निकल ब्लॉग, फैशन ब्लॉग, ब्यूटी ब्लॉग, एजुकेशनल ब्लॉग, बुक लिट्रेचर ब्लॉग, फ़िल्मी ब्लॉग, स्पोर्ट ब्लॉग, पोलिटिकल ब्लॉग, फ़ूड रेसिपी ब्लॉग, ट्रेवल हॉलिडे ब्लॉग, फाइनेंस ब्लॉग, हेल्थ ब्लॉग, मेडिकल मेडिसिन ब्लॉग, इन्शुरन्स पॉलिसी ब्लॉग, बिज़नेस ब्लॉग, सरकारी योजना आधारित ब्लॉग और करियर रोजगार ब्लॉग…इत्यादि।

General blogging की अपेक्षा Niche blogging हमेशा बेहतर होती है। नीश ब्लॉग लेखन करने वालों के लिए स्पॉन्सर्ड राइटिंग बेहद आसान बन जाती है क्योंकि उसके अंतर्गत आने वाले किसी खास प्रोडक्ट के लिए हम प्रायोजित लेखन कर सकते हैं। नीश ब्लॉग के पाठक उक्त विषय को जानने व समझने हेतु ही आते हैं अतः उनके लिए स्पॉन्सर्ड राइटिंग को टारगेट करना बेहद सरल हो जाता है। Product manufacturing company या फिर Selling companies अपने प्रोडक्ट के प्रचार प्रसार हेतु niche blog की तरफ ज्यादा रुझान रखतीं हैं क्योंकि वे नीश ब्लॉग की मदद से अपने targeted audience तक आसानी से पहुँच पाती हैं।

नीश ब्लॉग पर प्रायोजित लेखन क्या-क्या कर सकते हैं ?

  • इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट का रिव्यु करके उपभोक्ता के मन में उसे खरीदने की इच्छाशक्ति उत्पन्न करना
  • किसी इंस्टिट्यूट या कॉलेज के विषय में पूरी जानकारी देकर उसकी मार्केटिंग करना
  • किसी ब्यूटी प्रोडक्ट की खासियत बतलाकर उसे गृहणियों व युवतियों के लिए उपयोगी बताना
  • फाइनेंस व बीमा कंपनियों के प्लान को बताकर उपभोक्ता के मन में जागरूकता पैदा करना
  • किसी किताब का रिव्यु बतलाकर उसे खरीदने को प्रेरित करना
  • किसी फिल्म के प्रति अपना नजरिया बताकर उसका प्रचार करना
  • हेल्थ मेडिसिन के क्षेत्र में किसी खास कंपनी की उपयोगी जानकारी देना

ऊपर लिखे बिंदु स्पॉन्सर्ड राइटिंग के लिए बेहद कम हैं। यह एक ऐसा क्षेत्र है जहां आप प्रायोजित कंपनी के हिसाब से कैसा भी लेख बना सकते हैं। ये हमेशा याद रहे कि sponsored writing हमेशा positive approach के साथ की जाती है क्योंकि कोई भी कंपनी अपने उत्पाद या सेवाओं को ख़राब नहीं बताती। अतः आप जब भी प्रायोजित लेख लिखें उसमें अच्छे और बुरे के मिश्रण के अलावा उसके प्रति सकारात्मक भाव अवश्य रखें।

how-to-earn-money-from-blog-blogging-in-hindi

स्पॉन्सर्ड राइटिंग मुख्य रूप से content marketing का हिस्सा है, जिसका अर्थ है लेख के माध्यम से किसी उत्पाद अथवा कंपनी सेवाओं का प्रचार कर उसे निश्चित उपभोक्ता तक पहुँचाना जिससे कंपनी का उत्पाद या सेवा ज्यादा से ज्यादा लोग इस्तेमाल करें और खरीदें। अगर आपके पास niche blog नहीं है तो आप घबरायें नहीं अपने general blog की विश्वसनीयता को बनाकर रखें और उसमें नीश ब्लॉग से सम्बंधित अलग-अलग प्रकार की केटेगरी को बनायें।

एक अच्छा general blog तभी सफल होता है जब उसमें niche category होतीं है। कैसे भी, कहीं भी और कुछ भी लिखने की बजाय अपने जनरल ब्लॉग को केटेगरी में बाटें जैसे – हेल्थ फिटनेस सेक्शन, फैशन सेक्शन, सिनेमा सेक्शन, पॉलिटिक्स सेक्शन, टेक्नोलॉजी सेक्शन, फ़ूड सेक्शन, ट्रेवल सेक्शन, फाइनेंस सेक्शन…इत्यादि। जनरल ब्लॉग में बने हुए सेक्शन को ‘नीश सेक्शन’ कहा जाता है अतः जनरल ब्लॉग में एक niche category develop हो जाती है जो ठीक niche blog की तरह व्यवहार करती है। नीश और जनरल ब्लॉग पर चर्चा हम अगले लेख में विस्तार से करेंगे। फ़िलहाल यह जान लें कि स्पॉन्सर्ड राइटिंग थोड़ा मुश्किल पर बेहद मुनाफे का कार्य होता है। एक सफल ब्लॉगर स्पॉन्सर्ड राइटिंग जरूर करता है जहां से न सिर्फ उस ब्लॉगर की पहचान बढ़ती है बल्कि वो पैसे भी अधिक कमाता है।

सातवां (7) – अपनी विश्वसनीयता के माध्यम से

किसी खास विषय का प्रखर ज्ञान आपके प्रति विश्वास भाव को पैदा करता है। जैसे न्यूज़ पेपर में किसी एक खास लेखक का आर्टिकल प्रतिदिन पढ़ना, जैसे किसी खास पत्रकार के विचार को सुनना या फिर किसी खास नेता के भाषण को सुनना। यह तभी मुमकिन हो पाता है जब लेखक, पत्रकार और नेता जनता की नज़र में विश्वासपात्र बन जाते हैं।

अगर आप ब्लॉग्गिंग की किसी एक विशेष विधा में पारंगत है जिसमें आपको बहुत अच्छा ज्ञान है तो आप उस क्षेत्र में विश्वासपात्र हो सकते हैं। उदहारण के तौर पर – अगर आप फाइनेंस (वित्त) के मामले में बहुत अच्छी ब्लॉग्गिंग करते हैं और उस क्षेत्र से जुडी हर बात का पुख्ता ज्ञान रखते हैं तो आप फाइनेंस क्षेत्र के एक विश्वासी व्यक्ति बन जायेंगे। आपके द्वारा Finance क्षेत्र से संबंधित लिखे गए लेख आपको फाइनेंस गुरु होने का तमका दे जाते हैं। जब आप किसी एक खास क्षेत्र के गुरु अथवा एक्सपर्ट बन जाते हैं तो फिर लोग आपसे सलाह लेने लगते हैं। लोगों का यह मानना हो जाता है कि आपसे अच्छा अन्य कोई व्यक्ति इस विषय पर जानकारी नहीं रखता।

अतः आप अपनी विश्वसनीयता से भी पैसा कमा सकते हैं जैसे –

  • उक्त विषय का सलाहकार बनकर
  • उक्त विषय पर आधारित किताब प्रकाशित कर या अन्य किसी लेखक की किताब में अपना योगदान कर
  • किसी कॉलेज अथवा यूनिवर्सिटी में उक्त विषय पर अपना पार्ट टाइम लेक्चर देकर
  • उक्त विषय पर होने वाले सम्मेलनों में बोलकर
  • निजी तौर पर किसी स्टूडेंट या कर्मचारी को उक्त विषय का प्रशिक्षण व ज्ञान देकर
  • उक्त विषय पर आधारित टीवी प्रोग्रामों में हिस्सा लेकर

अपने प्रति इतनी बड़ी विश्वसनीयता को उत्पन्न कर पाना सरल कार्य नहीं है और न ही कोई ऐसा सोचकर ब्लॉग्गिंग करता है की मैं इस क्षेत्र में एक दिन सलाहकार बनूँगा। यह निश्चित ही पैसा बनाने का प्रत्यक्ष रूप नहीं है किन्तु कई प्रसिद्ध ब्लॉगर ऐसा कर पाने में सफल भी हुए हैं।

जरूरी बात,

अगर आप Blog Writing की शुरुआत करने जा रहे हैं तो पैसा कमाने की बात तुरंत न सोचें। केवल money earning सोचने वाले blogger ज्यादा सफल नहीं हो पाते क्योंकि वे लेखन पर केंद्रित न रहकर पैसे पर केंद्रित हो जाते हैं। यह याद रहे blogging करना बेहद परिश्रम का कार्य है और इसमें सफलता एक महीने या एक साल में प्राप्त नहीं की जा सकती। मेहनती ब्लॉगर भी कम से कम 5 साल अपने ब्लॉग पर लगातार मेहनत करेगा तब जाकर उसे कुछ धन की प्राप्ति हो सकती है।

पैसा कमाने की होड़ को छोड़कर अपने ब्लॉग को रुचिकर बनाने का प्रयास करें। लोगों के लिए उपयोगी आर्टिकल लिखें और निरंतर लिखते रहें। जनरल ब्लॉग्गिंग और नीश ब्लॉग्गिंग को लेकर कंफ्यूज रहने की जरूरत नहीं है। दोनों तरह के ब्लॉग बेहतर कार्य करते हैं, यदि आप उन्हें अच्छे से इस्तेमाल में ले रहे हैं तो।

नए ब्लॉगर के लिए पैसा कमाने का सरल माध्यम है Google Adsense. अपने ब्लॉग पर ज्यादा यूजर बढ़ाने का प्रयत्न करें जिसका सबसे सरल तरीका है ज्यादा से ज्यादा लेखन। आप जितना अधिक और यूनिक लिखेंगे गूगल सर्च इंजन में आपके लेख ज्यादा आने शुरू होंगे। समय के साथ आपके ब्लॉग की search visibility बढ़ती जायेगी और लोग आपके ब्लॉग को पहचानना शुरू कर देंगे। शुरूआती महीनों में ब्लॉग को ज्यादा प्रमोट करने की जरूरत नहीं है सिर्फ continue blog writing ही काफी है। Blog Traffic बढ़ने के साथ-साथ Adsense का Revenue भी बढ़ता जायेगा। पैसा कमाने के अन्य माध्यमों का इस्तेमाल तब करना चाहिए जब आपको लगे कि आपका ब्लॉग अब कुछ हद तक प्रसिद्ध हो चुका है।

पैसा कमाने के दृष्टिकोण से ब्लॉग पर कैसा कॉन्टेंट लिखा जाना चाहिये ?

जैसा मैंने बताया कि Google Adsense ब्लॉग से पैसा कमाने का सबसे पहला और बेहतर माध्यम है जिसके लिए आपको अपने Blog को Adsense monetize कराना होगा। अगर आप ये सोचते हैं कि सिर्फ एडसेंसे मॉनेटाइज़ हो जाने के बाद आप ब्लॉग से ढेरों रुपए कमा लेंगे तो ऐसा बिल्कुल नहीं है। आपके द्वारा लिखा जाने वाला लेख (content) ही ज्यादा या कम पैसे के लिए उत्तरदायी होता है। गूगल एडसेंसे द्वारा दिखाए जाने वाले विज्ञापन की प्राइस वैल्यू एक समान नहीं रहती। प्राइस वैल्यू को तकनीकि रूप से monetization value कहा जाता है, जिसका अर्थ ये है कि कौन से विज्ञापन पर ज्यादा है और कौन से विज्ञापन पर कम है। अतः आप हमेशा high monetization value रखने वाले कॉन्टेंट को ज्यादा लिखें तो आप Google adsense से ज्यादा पैसे कमा सकते हैं।

हाई मॉनेटाइजेशन (high monetization value) वाले कॉन्टेंट कौन-कौन से होते हैं –

1)- इलेक्ट्रॉनिक कॉन्टेंट: सभी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद पर आधारित
2)- टेक्निकल कॉन्टेंट: कंप्यूटर सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर, विंडो, ग्राफ़िक्स, एस.ई.ओ, डिजिटल मार्केटिंग पर आधारित
3)- गैजेट्स कॉन्टेंट: मोबाइल, कैमरा, स्मार्टफोन, लैपटॉप, टैबलेट्स इत्यादि जैसे गैजेट्स पर आधारित
4)- हेल्थ कॉन्टेंट: स्वास्थ, बीमारी, फिटनेस, शारीरिक जांच जैसे डॉक्टरी विषय पर आधारित
5)- फाइनेंस इन्शुरन्स कॉन्टेंट: वित्त, अर्थव्यवस्था, फाइनेंस, लोन, बीमा, शेयर बाजार, इन्वेस्टमेंट पर आधारित
6)- ट्रेवल हॉलिडे कॉन्टेंट: यात्रा, देश विदेश, टूरिज्म, डेस्टिनेशन, होटेल, रेस्टुरेंट पर आधारित
7)- ऑटोमोबाइल कॉन्टेंट: कार मॉडल, कार टाइप, मोटरबाइक टाइप इत्यादि की विशेषताओं पर आधारित
8)- रियल एस्टेट कॉन्टेंट: अपार्टमेंट, फ्लैट, बिल्डिंग, मॉल शॉप, सेल परचेस पर आधारित

लो मॉनेटाइजेशन (low monetization value) वाले कॉन्टेंट कौन-कौन से होते हैं –

1)- मेडिकल मेडिसिनल कॉन्टेंट: दवाईयां, उपचार, दवा कंपनी पर आधारित
2)- डोमेन होस्टिंग कॉन्टेंट: डोमेन बुकिंग, होस्टिंग, सरवर, सिक्योरिटी पर आधारित
3)- स्टोरी पोएट्री कॉन्टेंट: कहानी, कविता, चुटकुला, शेर-शायरी पर आधारित
4)- राजनीति कॉन्टेंट: पॉलिटिकल पार्टी, राजनेता, चुनाव चर्चा पर आधारित
5)- शिक्षा रोजगार कॉन्टेंट: स्कूल, कॉलेज, कोर्स, पढ़ाई, जॉब, नौकरी पर आधारित

अंत में,

अगर आप ब्लॉग्गिंग में भविष्य तलाश रहे हैं तो ये जानकारी आपके लिए बेहद उपयोगी है। मैं स्वयं एक डिजिटल मार्केटर हूँ अतः आप Blog या SEO से संबंधित किसी भी प्रश्न के लिए कमेंट करें मैं आपके सवालों का जवाब जरूर दूंगा और साथ में यह भी बतायें कि आप अगला लेख किस विषय पर चाहते हैं।

लेखक:
रवि प्रकाश शर्मा


कृपया अपने मित्रों को भी Share करें
कृपया नीचे अपना Comment जरूर दें :
Latest Comments