ऑनलाइन से ऑफलाइन होता समाज

आज कल आप इंटरनेट, फेसबुक, वाटसऐप्प या ट्विटर आदि का जरुरत से ज्यादा उपयोग तो नहीं करने लग गए ? क्या आपको भी हमेशा स्टेटस चेक करने की या ऑनलाइन रहने की बीमारी हो गयी है ? यह समस्या केवल युवाओं में नही बल्कि बच्चों, बुजुर्गो, गृहणियों सबको अपनी चपेट में ले रही है। आप इस से बच भी नहीं सकते क्योंकि ये आज की आवश्यकता हो गयी है। सारे काम इन्टरनेट से होते हैं, परंतु किसी भी चीज की अधिकता हमेशा हानि ही पहुचती है।

कितनी शादियाँ इस वजह से टूट रही हैं, पति की शिकायत पत्नी फ़ोन पर लगी रहती है। कहीं पत्नी कहती है कि पति टाइम नहीं देते ऑफिस के बाद देर रात तक फ़ोन और कंप्यूटर में बिजी रहते हैं। और तो और सोने से पहले एक दूसरे विपरीत कमर कर आज कल के युवा फ़ोन से चिपके रहते हैं। जिस कारण रिश्तों में मिठास काम होती जा रही है। एक तरह से ये हम पर यह एक मानसिक अटैक ही है जिसे साइबर अटैक की संज्ञा दी जा सकती है।

तमाम अध्ययन और शोध ये बताते हैं कि ज्यादा समय स्मार्टफोन और कंप्यूटर पर बिताने वाले लोग मानसिक रूप से बीमार या डिप्रेशन में होते जा रहे हैं। क्योंकि ये एक स्लो पॉइज़न की तरह काम करता है। जैसे किसी प्रकार का नाश,जो शुरुआत में तो अच्छा लगा परंतु कुछ समय बाद आपको इसकी लत लग जाती है। कितनी विचित्र बात है, जिस चीज का अविष्कार लोगों को समाज से जुड़ने के लिया हुआ था वही आज हमें हमारे वास्तिविक समाज से दूर कर रहा है, बच्चो को उनके माँ बाप से, पति पत्नी को एक दूसरे से।

अगर आप बार-बार फ़ोन चेक करते हैं, अगर आपका फ़ोन कुछ देर के लिया बंद हो जाये तो आप बहुत विचलित और परेशान हो जाते हैं, अगर आपका इन्टरनेट बंद हो जाये तो आप बिन पानी मछली जैसे मन ही मन झटपटाते हैं, रात को बिना फ़ोन या कंप्यूटर देखे आपको नींद नही आती, अगर कोई मेहमान घर आये तो बेमन बात करते हुए बार-बार फ़ोन पर लगे रहते हैं, तो आपमें वे सभी लक्षण हैं जो एक साइबर एडिक्ट को होते हैं। इतना तो हम सभी जानते हैं पर इसका उपाय क्या है ? कुछ बातों पर अगर अमल कर लें तो आप इस परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं।

1-जब आवश्यकता न हो तो डाटा मोड़ को ऑफ रखना, जिससे आप को नोटिफिकेश नहीं आएंगे
2-बेवजह लिंक पर जाने से बचें
3-वर्चुअल दुनियां से बाहर आकर दोस्तों और परिवार को समय दें
4-नियमित रूप से व्यायाम करें
5-प्रतिदिन वाक पर जाएं
6-आउटडोर खेल जितना हो सके उतना खेलें जैसे क्रिकेट, फुटबाल व् अन्य खेल
7-सोने से पहले फेसबुक तथा इन्टरनेट उपयोग करने से बचें क्योंकि आप सोचते हैं कि बस चेक करना है 2 मिनट का काम है परंतु फिर घंटो व्यर्थ हो जाते हैं

इन तमाम बातों को अपनाकर आप अपने जीवन में खुशहाली ला सकते हैं, क्योंकि इन चीजों से बचा जा सकता है। छोड़ा नहीं जा सकता, क्योंकि इस आधुनिक ज़माने में इनके बिना जीवन की कल्पना करना आसान नहीं।

 

लेखक:
मोहम्मद दानिश