गूगल ऐड – बजट, टाइम, क्लिक, डेली बजट और सीपीसी

गूगल ऐड – बजट, टाइम, क्लिक, डेली बजट और सीपीसी

हिंदी एसईओ टुटोरिअल में आज का विषय है “गूगल ऐड – बजट, टाइम, क्लिक, डेली बजट और सीपीसी
दोस्तों गूगल ऐड कैंपेन तो चलाना आसान है किन्तु बजट को ध्यान में रख हम कितने समय के लिए ऐड चलायें, डेली कितने पैसे खर्च करें, कितने क्लिक प्राप्त करें और पर क्लिक कितना रुपया खर्च हो यह निर्धारित करना अनिवार्य हो जाता है।

यह पूरा एक प्रॉसेस है जिसे अनुभवी डिजिटल मार्केटर तो समझ जाता है मगर जो नए लोग हैं, जो पहली बार डिजिटल मार्केटिंग की दुनियां में कदम रख रहे हैं उनके लिए इसको जान पाना एक टेढ़ी खीर है। कई बार पुराने लोग भी इसमें गलतियां कर जाते हैं। बजट, टाइम, क्लिक, डेली बजट और सीपीसी के पूरे खेल पर ही किसी कैंपेन की सफलता एवं असफलता टिकी हुई है।

तो चलिए इस पूरे खेल को हिंदी में समझते हैं –

अधिकांश डिजिटल मार्केटर डायरेक्ट गूगल ऐड कीवर्ड प्लानर टूल का इस्तेमाल कर बिज़नेस से रिलेटेड ‘Keywords’ ‘Traffic Volume’ ‘Low Range CPC’ ‘High Range CPC’ की लिस्ट बना लेते हैं। मैं आपको बता दूँ कि CPC जानने के लिए आप wordstream, semrush, spyfu जैसे प्रचलित टूल को भी प्रयोग में ले सकते हैं।

कीवर्ड एवं उसकी सीपीसी के आधार पर सस्ता या महंगा कैंपेन बना लिया जाता है। ज्यादातर लोग इसी प्रैक्टिस को करते हैं मगर मैं इसे ठीक नहीं मानता। गूगल ऐड कैंपेन हमेशा ‘बजट’ के आधार पर चलना चाहिए न की ‘कीवर्ड’ के आधार पर। जितना जेब अलाउ करे, उसी के आधार पर अपना कैंपेन सेट कीजिये तभी आप सफल डिजिटल मार्केटर कहला पायेंगे।

कैसे बनाएं एक सफल कैंपेन ?

बजट निर्धारण:

अगर आप कंपनी के लिए काम कर रहे हैं तब आप कंपनी से बजट जान लें की वे कितना पैसा खर्च कर सकते हैं। मान लिया कंपनी ने कहा हमारा अधिकतम बजट 5000 रुपया महीना है।

समय निर्धारण:

अब आपको कंपनी का बजट 5000 ज्ञात हो गया।
इस पूरे पांच हजार रुपये को आप कितने समय में खर्च करना चाहेंगे यह आपके ऊपर निर्भर है। अतः आप कैंपेन कितने समय चलाना चाहते हैं यह तय करना आपकी जिम्मेदारी है। कैंपेन अच्छा रहा या ख़राब रहा इस संबंध में आपको पूरी जानकारी तभी प्राप्त हो सकेगी जब आप कम से कम 1 महीने तक कैंपेन को चलायें। यदि 30 दिन यानि 1 महीना कैंपेन नहीं चलाना चाहते तो आप कम से कम 15 दिनों के लिए तो अवश्य चलायें। यह जरूरी है की हमें कुछ ‘डेटा’ प्राप्त हो ताकि भविष्य में अगले कैंपेन के लिए उस डेटा का उपयोग किया जा सके।

क्लिक निर्धारण:

हमें बजट भी पता चल गया जो कि 5000 है और समय भी पता चल गया जो कि 15 दिन है।
अब हमें खुद को आश्वस्त कर लेना भी जरूरी है कि हमें रोज कितने क्लिक चाहिए। हालांकि क्लिक हमारे वश में नहीं है कंट्रोल करना मगर अनुमानन एक लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं। तो यहाँ हम निर्धारित कर लेते हैं की रोज के हमें 30 क्लिक चाहिए।

डेली बजट निर्धारण:

कंपनी का बजट महीने का 5000 है, हमने 15 दिनों के लिए 2500 रुपया निर्धारित किया और डेली 30 क्लिक प्राप्त करने का हमने लक्ष्य रखा। इस पैमाने पर रोज हमारा कुल कितना रूपया खर्च हो सकता है यह हमें ज्ञात हो गया।

अब इस पूरी प्रक्रिया को उदहारण से समझते हैं:

कंपनी ने गूगल कैंपेन के लिए महीना 5000 बजट दिया।
हमने 15 दिन कैंपेन चलाने का फैसला लिया अतः 15 दिनों के लिए कुल 2500 रुपये खर्चने होंगे।
अब यदि 2500 भागे 15 करें तो हमें डेली बजट प्राप्त हो जाता है, जो है कुल 166.66

हमारा हिसाब कुछ ऐसा हो गया –

15 दिनों के लिए कुल 2500 रुपये हैं जिसमें हम प्रतिदिन 166.66 रुपये खर्च कर सकते हैं। अतः यहाँ पर टोटल बजट (2500) एवं डेली बजट (166.66) हमें प्राप्त हो चुका है।

चूँकि डेली बजट हमारा 166.66 रुपये है अतः देखना होगा की हम इतने पैसे में अधिकतम कितने क्लिक प्राप्त कर सकते हैं।
ऊपर आप देखें तो प्रतिदिन हमने 30 क्लिक प्राप्त करने की अपेक्षा की थी।
अतः उसके हिसाब से फार्मूला हुआ total cost भागे total clicks, इसके अनुसार 166.66 भागे 30 = 5.55
आप देख सकते हैं कि जो हमारी सीपीसी निकल कर आयी वो है 5.55 रुपये।

इस पूरे प्रॉसेस को फॉलो करने के बाद हमें अपनी CPC प्राप्त हो गयी।
अब जो अगली प्रक्रिया है, वो है Keyword Finding की। मैंने सबसे पहले ही कहा था कि हमें अपने बजट के अनुसार कीवर्ड खोजने हैं।

यहाँ से शुरू होती है कीवर्ड खोजने की तकनीकि जिसके लिए आप Google Ads Keyword Planner Tool का तो इस्तेमाल कर ही सकते हैं उसके अलावा अन्य कई प्रकार के टूल आप उपयोग में ले सकते हैं। आप चाहे जिस टूल का इस्तेमाल करें बस आपको ये ध्यान रखना है की आपको वही कीवर्ड चुनने हैं जो आपके cost per click के बजट में हों। चूँकि हमने अपना CPC Budget 5.55 निर्धारित किया है ऐसे में इतने कम बजट के अनुसार अच्छे कीवर्ड रिसर्च की जिम्मेदारी भी बढ़ जाती है।

इतने कम बजट में परफॉर्मिंग कीवर्ड जिसके सर्च वॉल्यूम भी ठीक-ठाक हों एवं सीपीसी हाई रेंज भी 5.55 रूपये के आस-पास हो को खोज पाना डिजिटल मार्केटर के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण कार्य है। यदि आपको इतने कम सीपीसी वाला परफॉर्मिंग कीवर्ड मिल जाता है तब तो सच में आप न सिर्फ अपनी कंपनी के पैसे बचा पायेंगे बल्कि कम पैसे में ही उनको बढ़िया कन्वर्जन भी दे पायेंगे।

इस लेख में मेरा उद्देश्य था ‘बजट के अनुसार सीपीसी कैसे प्राप्त की जाय‘ उसे आपको बतलाना।
नीचे दिए गए फोटो को आप ध्यान से देखिये और ऊपर से नीचे आते क्रम को फॉलो कीजिये आप Actual CPC तक बड़ी आसानी से पहुँच जायेंगे।

how-to-decide-budget-time-clicks-cpc-in-hindi

जो लोग कंफ्यूज रहते हैं की कितना बजट और सीपीसी निर्धारित किया जाय गूगल ऐड कैंपेन के लिए, कृपया वे सभी इस लेख को ध्यान पूर्वक पढ़ें। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप बड़ी आसानी से cost per click तय कर लेंगे। यह हो सकता है कि उतने सीपीसी में आपको अच्छा कीवर्ड ना मिले, तब आप अपने बजट को बढ़ाकर, डेली क्लिक की संख्या को कम कर या समय को घटा कर अपना कैंपेन मैनेज कर सकते हैं।

ऐड कैंपेन चलाने के लिए कोई विशेष क्रम या फॉर्मूला नहीं है, ये सबकुछ डिजिटल मार्केटर की सूझ-बूझ पर निर्भर करता है।
फिर भी कुछ मानक तो होते ही हैं हर काम के लिए अतः सीधे कीवर्ड खोजकर और उनकी एवरेज कॉस्ट देखकर कैंपेन ना चलाएं। यह जान लेना जरूरी है की कंपनी कुल कितना रूपया खर्च कर सकती है और हम उन रुपयों का कितने बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं।

लेखक:
रवि प्रकाश शर्मा

Post A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *