Latest Posts

See what's new

चिता – एक हिंदी कविता

कविता शीर्षक – चिता क्यों अपने तड़फ़ते हैं , बातें दिल पर मेरे लगाते हैं। वक्त क्यों, मेरा जटिल बनाते हैं , घूम कर देखी न अभी दुनिया मैंनें , घर में ही मेरी कब्र सजाते हैं। रिश्तेदार पूछते हैं जब मुझे, तू काम क्या करेगा , तो मैं कह देता ‘मेरी उदासी में

माँ – मातृ दिवस, 11 मई मदर्स डे विशेष

“माँ” जितना छोटा है यह शब्द उतना ही बड़ा है इसका अर्थ, समेटे है अपने अंदर सारे ब्राह्मण को इस सारी सृष्टि को, सुनने में इसकी आवृति जितनी छोटी है , उतनी ही बड़ी है इसकी महत्ता इसकी सार्थकता। एक अद्भुत कृति है ईश्वर की, आनंद और ममता से परिपूर्ण, निश्छल भावों को हृदय

हिंदी कविता – फनी तूफान

फनी तूफान फनी के फन को कुचलना हैना देख इसे दहलना हैभले जोर-जोर से करे फूफ़कारकरे शोर भले यह बार-बारहम सब भी खड़े हैं तैयार करेंगे इसकी चुनौती को सहर्ष स्वीकारअपनी हिम्मत है फौलादना तोड़ पाएगा कोई तूफानयह डाल-डाल तो हम पात-पातकरेंगे मुकाबला हम साथ-साथ अपनी एकता को देख करहर संकट जाएगा दूर हटहम

हिंदी कविता – मैं अपने कामों में ईमान रखता हूँ

हिंदी कविता मैं अपने कामों में ईमान रखता हूँ सो सबसे अलग पहचान रखता हूँ सब इंसान लगते हैं मुझे एक जैसे तासीर में हमेशा भगवान् रखता हूँ है महफूज़ जहाँ मुझ जैसे बन्दों से सच से लैश अपनी जुबां रखता हूँ बना रहे हिन्दोस्तान मेरा शहंशाह अपने तिरंगे में ही प्राण रखता हूँ

हिंदी ग़ज़ल – दर्द ज्यादा हो तो बताया कर

ग़ज़ल दर्द ज्यादा हो तो बताया कर ऐसे तो दिल में न दबाया कर रोग अगर बढ़ने लगे बेहिसाब एक मुस्कराहट से घटाया कर तबियत खूब बहल जाया करेगी खुद को धूप में ले के जाया कर तरावट जरूरी है साँसों को भी अंदर तक बारिश में भिंगोया कर तकलीफें सब यूँ निकल जाएँगी

हिंदी कविता – न जाने किनका ख्याल आ गया

हिंदी ग़ज़ल न जाने किनका ख्याल आ गयारूखे-रौशन पे जमाल* आ गया जो झटक दिया इन जुल्फों को ज़माने भर का सवाल आ गया मैं मदहोश न हो जाती क्यों-कर खुशबू बिखेरता रूमाल आ गया मैं मिट जाऊँगी अपने दिलबर पेबदन तोड़ता जालिम साल आ गया मेरे हर अंग पे है नाम उसकी कायूँ

पहली मुलाक़ात..(आंशिक) – हिंदी कहानी

आज पहली बार मिले थे शिव और शिवा, ख़ुशी अपने चरम पर थी…राधा कृष्ण जी के दर्शन करने के बाद दोनों वहीं एक पेड़ के नीचे बैठ गए..।  आप कुछ बताने वाली थीं…शिव ने शिवा का हाथ अपने हाथ में लेते हुए बड़े प्यार पूछा ! जी क्या बताएँ, कुछ भी नहीँ बस; शिवा

ज्ञान और भक्ति का अनोखा संगम भ्रमरगीत काव्य परम्परा

विरह, वेदना, वियोग, ज्ञान एवम् भक्ति का अद्भुत संगम है ‘भ्रमर गीत’ । एक ऐसा वृतांत जहाँ ज्ञान चुप्पी साध लेता है, जिसके आगे योग के सारे तर्क विफल हो जाते हैं। शेष कुछ रह जाता है, तो वह है केवल भक्ति सम्पूर्ण समर्पण। भ्रमर गीत काव्य परम्परा का मूल श्रीमद् भागवत का भ्रमर

कभी खुद का भी दौरा किया कीजिए

“हिंदी कविता” कभी खुद का भी दौरा किया कीजिएजो जहर है निगाहों में पिया कीजिए झूठी सूरत, झूठी सीरत और झूठा संसारसच के खिलने का आश्वासन भी दिया कीजिए हँसी मतलबी, आँसू नकली, बेमानी सब बातेंज़ुबाँ ही नहीं, तासीर को भी सिया कीजिए हवा में सारे वायदे, बेशक़्ल सारी तस्वीरेंहिसाब को कभी तो कुछ

15 सबसे अधिक लोकप्रिय रीसाइक्लिंग व्यवसाय

आज के आधुनिक युग में विभिन्न प्रकार के उत्पादित कचरे की मात्रा दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है । हममें से अधिकांश लोग उपयोग की गई सामग्रियों को रीसाइक्लिंग नहीं करने के प्रभावों से तो अवगत हैं, लेकिन इस बात से अवगत नहीं हैं कि रीसाइक्लिंग एक आकर्षक व्यवसाय भी हो सकता है। कोई भी व्यक्ति