हिंदी ब्लॉग Hindi Blog

पढ़िये नवीन रोचक लेख हिन्दी में

पोथी पढ़ि पढ़ि जग मुआ

दोहा: ” पोथी पढ़ि पढ़ि जग मुआ, पंडित भया न कोय;ढाई आखर प्रेम का, पढ़े सो पंडित होय। “ कथानक: बाबू साहब अपना मोटा पेट और मोटा सूटकेस रिक्शे पर रखते हुए बोले – चल बे, ..चौबेपुर कचहरी के पास।उनके मुख से निकला वाक्य ‘चल बे’ …निःसंदेह रिक्शे वाले के मन को न भाया।पर

हिंदी कविता – तन्हाई

हिंदी कविता – तन्हाई अक्सर मेरी तन्हाई ,हम साथ – साथ रहते है,रात को सोते वक्त, सोचता हूँ,ये जिन्दगी की, बंदिशें। सब्र का घुट भरते ही,यादें मेरा गला, दवा जाती है।मेरे आपने ही, जब किसी की, बातों में आ जाते है,क्या कहूँ, उन्हें, कैसे समझाऊँ इन्हें। मेरी मंजिल तो, कहीं और , बहुत ऊपर,आसमान

एलीमेंट्स मोबाइल एप्प – भारत का अपना सोशल मीडिया एप्प

59 चीनी सोशल मीडिया एप्प के भारत में प्रतिबंधित हो जाने के कारण भारतीय स्किल्ड लोगों के लिए यह एक सुनहरा अवसर है।इस सुनहरे अवसर का लाभ उठाकर भारतीय आई टी कंपनियां अनेक प्रकार के प्रयोग कर रही हैं और वो तेज़ी से इस दिशा में कार्यरत हैं की कैसे भारत को इंटरनेट की

साइकिल चोर – हिंदी कहानी

साइकिल वाला आया और घर के मुख्य द्वारा पर साइकिल खड़ा कर चला गया। जाते हूए, मोहब्बत की अम्मा से यह कह गया की – ” मैं अभी मालिक से मिल कर आता हूँ, मेरे साइकिल का ध्यान रखना “ लगभग आधे घंटे तक एक शाख्स दरवाजे पर खड़ा होकर कहता –अरे भाई अरे

हिंदी कविता – मेरी पहचान

हिंदी कविता – मेरी पहचान मेरी पहचानमेरे पिता मेरी पहचान हैं,मेरे सपनों की उड़ान हैं।मेरे नन्हें कदमों की आहट पर,मचलते उनके अरमान हैं।। मुझको उन्होंने खूब पढ़ाया,कुछ बनने के काबिल बनाया।सच की राह पर मुझे बढ़ाकर,चुनौतियों से जूझना मुझे सिखाया।। मुझको बढ़ते देखकर उनके,चेहरे पर आई मुस्कान है।आने वाले कल में मुझको,बनना उनकी पहचान

हिंदी कविता – डाका

हिंदी कविता – डाका तेरे शहर में रब्बा विरान सा पड़ जाता,आता कोई डाकू लूट कर ले जाता। भीतर प्रवेश करते लोग डर कर, हमें कोई कहीं, मार न जाता,सदर से बस्ते शाहर में, बुरी नजरों से कोई देख जाता।नंगे पैर, भूख से बीते दुपहिरियाँ, यहाँ हाल न पूछता, कोई गरीब का,भाषण देता, खड़कर

कोरोना, मजदूर और सरकार – विचार विशेष

मैं जिंदा हूं ये मुष्तहर कीजिए, मिरे कातिलों को खबर कीजिए,ज़मीं सख्त है आसमाँ दूर है, बसर हो सके तो बसर कीजिए ।। जी हां,आज के हालात देख के तो सुधीर लुधियानवी जी कि ये लाइनें ही याद आती हैं। सही ही है आज इस भसड़ में अगर बसर हो सके तो बसर करो

गूगल ऐड – बजट, टाइम, क्लिक, डेली बजट और सीपीसी

गूगल ऐड – बजट, टाइम, क्लिक, डेली बजट और सीपीसी हिंदी एसईओ टुटोरिअल में आज का विषय है “गूगल ऐड – बजट, टाइम, क्लिक, डेली बजट और सीपीसी“दोस्तों गूगल ऐड कैंपेन तो चलाना आसान है किन्तु बजट को ध्यान में रख हम कितने समय के लिए ऐड चलायें, डेली कितने पैसे खर्च करें, कितने

मजदूरों को मिले जीवन परामर्श

मजदूरों को मिले जीवन परामर्श कोरोना महामारी (कोविड-19) के तहत देश 25 मार्च 2020 से लॉकडाउन में है।लॉकडाउन जनहित को ध्यान में रखकर जारी किया गया ताकि स्वस्थ लोगों की जान Covid-19 नाम की बिमारी से बचाई जा सके। चूँकि कोरोना एक संक्रामक रोग है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में ट्रांसफर हो

गूगल ऐड कीवर्ड मैच टाइप्स

गूगल ऐड कीवर्ड मैच टाइप्सGoogle Ads Keyword Match Types गूगल ऐड कीवर्ड मैच टाइप्स, इस टॉपिक को समझना उन लोगों के लिए बहुत जरूरी है जो Google Search Campaign के Expert बनना चाहते हैं। मेरी पूरी कोशिश होती है कि मैं छोटी-छोटी बातों को भी SEO Tutorial के अंदर बताऊँ, तो चलिए इस छोटे